Home» Jeevan Mantra »Family Management » Family Management Tips In Hindi For Happy Family

इन कारणों से अधिकतर पति-पत्नी के बीच होते हैं झगड़े

जीवन मंत्र डेस्क | Feb 23, 2017, 13:13 IST

इन कारणों से अधिकतर पति-पत्नी के बीच होते हैं झगड़े, religion hindi news, rashifal news
पति-पत्नी लड़ते क्यों हैं, इसे लेकर मनोवैज्ञानिकों का शोध बढ़ता जा रहा है। कमाल तो यह है कि जितना शोध, जितनी चिकित्सा हो रही है, समस्या उतनी ही बढ़ती जा रही है। पति-पत्नी के बीच तनाव का एक बड़ा कारण होता है दोनों के सपने, जो उन्होंने विवाह से पहले देखे थे। भारतीय दृष्टि वैवाहिक जीवन को तीन भागों में बांटकर चलती है।
पहला महिला-पुरुष, दूसरा पति-पत्नी तथा तीसरा माता-पिता। तीनों ही स्थितियों में इनके सपने लगातार काम कर रहे होते हैं। विवाह से पहले जब ये महिला-पुरुष होते हैं उस समय उनके विचार स्वतंत्र होते हैं, रहने का अपना-अपना ढंग होता है। फिर इनके परिवार होते हैं, जो दोनों के सामने नए रूप में आ जाते हैं। इसके बाद इनके सपने टकराते हैं। महिला-पुरुष रहते जीवन में जो लोग और उनसे आपके जो संबंध होते हैं, उनका पति-पत्नी होने पर सावधानी से इस्तेमाल करना होता है, क्योंकि विवाह होते ही आप महिला-पुरुष नहीं रहते। अब सिर्फ पति के भीतर का पुरुष या महिला अथवा पत्नी के भीतर की महिला या पुरुष ही काम करेगा। माता-पिता बनते ही जो पॉजिटिविटी बच्चों के लिए आप में होनी चाहिए। वह महिला और पुरुष होने के पूर्वग्रह से टकरा रही होगी और इसीलिए दोनों के लक्ष्य एक होने के बाद भी झगड़े बढ़ते जाते हैं।
कुछ तलाकशुदा लोगों से बात की गई तो उनका स्वर था कि हम एक-दूसरे को सुख देना चाहते थे फिर भी लड़ाई हो गई। वे समझ ही नहीं पाए कि पहले महिला-पुरुष थे फिर पति-पत्नी और माता-पिता बन गए। इन तीनों चरणों में अपने भीतर की स्थितियों से परिचित हो जाएं तब झगड़े कम होंगे और आप प्रेमपूर्ण जीवन आसानी से जी सकेंगे। इसके लिए जरूरी है योग, क्योंकि योग भीतर यानी आत्मा से जोड़ता है।
- पं. विजयशंकर मेहता
humarehanuman@gmail.com
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: family management tips in hindi for happy family
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      Trending Now

      पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

      दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

      * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
      Top