Home» Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Suktiyon Ki Seekh» Happiness Formula: They Understand That They Will Not Suffer, Kabir Ke Dohe

सुख के सूत्र : जो इनको समझ ले वो दुःखी नहीं होगा

धर्म डेस्क. उज्जैन | Feb 22, 2013, 16:14 PM IST

आज सुखी कोई नहीं है। हर किसी को कुछ ना कुछ दुःख या अशांति जरुर है। सुख और शांति दोनों मन के भीतर के भाव हैं। बाहरी पदार्थों में ढूंढ़ने से नहीं मिलेंगे। इसके लिए हमें मन के भीतर की यात्रा करनी होगी।
जब तक हम बाहरी दुनिया में रमे हुए हैं, तब तक भीतरी शांति नहीं पा सकते। कई बार प्रयासों के बाद भी सफलता नहीं मिलना, बहुत सफल होने पर भी अशांति का एहसास होना, बहुत संसाधनों को भोगने के बाद भी सुख का अनुभव नहीं होना ये सब भीतरी अशांति और असंतोष के परिणाम हैं।
महान संत कबीर दास ने जीवन में अशांति के ऐसे ही कारणों पर रोशनी डाली है। कबीर का दार्शनिक भाव अनूठा और सटीक है। आइए कबीर से सीखें भीतरी शांति और संतुष्टि पाने के कुछ उपाय।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Happiness formula: They understand that they will not suffer, kabir ke dohe
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Next Article

    Recommended

        PrevNext