Home» Jeevan Mantra »Dharm »Gyan» Who Will Be Ghost After Death? Perhaps You Don't Know This Mystery

कौन बनते हैं भूत-प्रेत? आप भी शायद ही जानते होंगे यह रहस्य

धर्म डेस्क, उज्जैन | Jul 18, 2013, 05:30 AM IST

धर्मशास्त्रों की सीख है कि अच्छे काम और सोच जीवन के रहते सुख-सुकून व मृत्यु के बाद दुर्गति से बचने के लिए बहुत जरूरी हैं। व्यावहारिक तौर पर भी किसी भी मकसद को पूरा करने के लिए सही सोच और उसके मुताबिक काम को अंजाम देने पर ही मनचाहे नतीजे मुमकिन है। वरना सोच और कोशिशों में सही तालमेल न होने पर गलत नतीजे ही सामने आते हैं।
अगर मृत्यु के संदर्भ में यही बात सामने रख शास्त्रों की बात पर गौर करें तो बताया गया है कि कर्म ही नहीं विचारों में गुण-दोष के मुताबिक भी मृत्यु के बाद आत्मा अलग-अलग योनि प्राप्त करती है। इनमें भूत-प्रेत योनि भी एक है। हालांकि विज्ञान भूत-प्रेत से जुड़े विषयों को वहम या अंधविश्वास मानता है। लेकिन यहां बताई जा रही मृत्य के बाद भूत-प्रेत बनने से जुड़ी बातें मनोविज्ञान व व्यावहारिक पैमाने पर प्रामाणिक होने के साथ ही सुखी व शांति से भरे जीवन के एक अहम सूत्र भी उजागर करती हैं।
जानिए, प्रसिद्ध हिन्दू धर्मग्रंथ में उजागर यह रहस्य कि किन लोगों को किस वजह से मृत्यु के बाद मिलती है भूत-प्रेत योनि -

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Who will be ghost after death? perhaps you don't know this mystery
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Next Article

    Recommended

        PrevNext