Home» Jeevan Mantra »Dharm »Gyan» Know How To Be Rich By Ankde Ke Ganesh In 5 Steps

PIX: कहां व कैसे मिलते हैं धन कुबेर बनाने वाले आंकड़े के गणेश?

धर्म डेस्क, उज्जैन | Jan 18, 2013, 13:19 PM IST

  • ankde ke ganesh

हिन्दू धर्म में बताए भगवान गणेश के अनेक रूपों में एक चमत्कारी और निराला रूप है - सफेद आंकड़े के गणेश। इन्हें श्वेतार्क गणपति भी कहते हैं। धार्मिक और लोक परंपराओं में धन, सुख-सौभाग्य, ऐश्वर्य और प्रसन्नता के लिए आंकड़े के गणेश की पूजा शुभ फल देने वाली मानी जाती है। यहां तस्वीरों पर क्लिक कर जानिए कहां और कैसे मिलते हैं आंकड़े के गणेश और आंकड़े की जड़ में भगवान गणेश के दर्शन व भक्ति से रंक को राजा बनाने वाली जन आस्था से जुड़ी रोचक जानकारी -

दरअसल, आंकडे के गणेश आक के पौधे की जड़ में बनी प्राकृतिक बनावट है। इसे लोक भाषा में आंकडे के नाम से जाना जाता है। इस पौधे की एक दुर्लभ जाति सफेद आंकड़ा होती है, इसमें सफेद फूल पाए जाते हैं।


इसी सफेद आंकड़े की जड़ की बाहरी परत को कुछ दिनों तक पानी में भिगोने के बाद निकाला जाता है। तब सफेद आंकड़े की इस जड़ में भगवान गणेश के शरीर की बनावट दिखाई देती है।

हर जड़ में भगवान गणेश की सूंड जैसा आकार तो जरूर मिलता है। इसके अलावा इस जड़ के तने में भगवान गणेश का भारी शरीर, आस-पास की शाखाओं में भुजाओं और सूंड जैसी रचना दिखाई देती है। जड़ की कुछ शाखाएं बैठे हुए गणेश की मूर्ति जैसी भी दिखाई देती है।

सनातन धर्म में वैदिक काल से ही प्रकृति की पूजा का महत्व बताया गया है। यही वजह रही है कि धार्मिक परंपराओं में कई पेड़-पौधों की देव रूप में पूजा की जाती है। इनमें पीपल, आंवला, वट वृक्ष प्रमुख हैं। जिस तरह शिव के वास के कारण बिल्वपत्र पूजनीय है, ठीक उसी तरह आंकड़े का पौधा भगवान गणेश के वास करने की धार्मिक आस्था के कारण पूजनीय है। आंकड़े की जड़ में दिखाई देने वाली श्रीगणेश की आकृति इस आस्था को और गहरा करती है।
वैसे भी हिन्दू धर्म के सबसे लोकप्रिय ग्रंथ रामचरित मानस में भगवान के स्वरूप और भक्ति के संबंध में एक बहुत ही गहरी बात बताई गई है, जो आंकड़े के गणेश पूजा की आस्था को बल देती है। यह है - जाकी रही भावना जैसी। प्रभु मूरत देखी तिन जैसी।। भक्ति भाव का सरल मतलब भी होता है कि किसी लक्ष्य को पाने की कोशिश में पूरी तरह डूब जाना। इस तरह भक्ति संकल्प का ही दूसरा रूप है। जहां संकल्प होता है, सुख और सफलता संभव है। आंकडे के गणेश की पूजा से जुड़ी भक्ति और आस्था भक्त के मन में संकल्प शक्ति और आत्म विश्वास जगाती है। इसी से प्रेरित भक्त अंत में सफलता, धन और समृद्धि पा जाता है। संभवत: इसी कारण आंकडे के गणेश सुख-समृद्धि के देवता के रूप में पूजनीय हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: know how to be rich by ankde ke ganesh in 5 steps
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Next Article

    Recommended

        PrevNext