Home» Jeevan Mantra »Aisha-Kyun» Parampara We Should Remember This Tradition In Temples

मंदिर में भगवान की ओर पीठ करके नहीं बैठना चाहिए

धर्म डेस्क. उज्जैन | Jan 25, 2013, 12:51 PM IST

शास्त्रों के अनुसार ईश्वर कण-कण में विराजमान हैं, हर जीव में परमात्मा निवास करते हैं। ईश्वर की साक्षात् अनुभूति के लिए मंदिर या देवालय बनाए गए हैं और हमारे घरों में भी भगवान के लिए अलग स्थान रहता है। मंदिर में देवी-देवताओं की प्रतिमाएं या चित्र रखे जाते हैं। जब भी श्रद्धालु कोई मनोकामना लेकर मंदिर या देवालय में जाते हैं तो वहां कुछ समय बैठते अवश्य हैं। मंदिर में कैसे बैठना चाहिए इस संबंध में भी कुछ खास बातें बताई गई हैं। इन बातों का पालन करने पर मंदिर जाने का पूर्ण पुण्य लाभ प्राप्त होता है।

नीचे दिए गए लिंक्स पर क्लिक करें और पढ़िए अन्य परंपराएं

स्त्री हो या पुरुष, जानिए सुबह बिस्तर छोडऩे से पहले क्या देखना चाहिए

शादी का सातवां वचन: पति कभी भी पराई स्त्री को टच नहीं करेगा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: parampara we should remember this tradition in temples
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Next Article

    Recommended

        PrevNext