जीवन मंत्र
Home >> Jeevan Mantra >> Jyotish >> Jyotish Nidaan
  • शास्त्र कहते हैं स्त्री हो या पुरुष, नहाते समय करना चाहिए ये छोटा सा उपाय भी
    उज्जैन। अच्छे स्वास्थ्य और सुंदर शरीर के लिए जरूरी है रोज नहाना। जो लोग प्रतिदिन नहाते हैं, उन्हें स्वास्थ्य और धर्म की दृष्टि से कई लाभ प्राप्त होते हैं। यदि ठीक सूर्योदय के समय हम स्नान करते हैं तो यह धर्म की नजरिए से बहुत शुभ होता है। इसी वजह से पुराने समय में विद्वान और ऋषि-मुनि सूर्योदय से पूर्व या ठीक सूर्योदय के समय स्नान करते थे। साथ ही, स्नान के बाद सूर्य को जल अर्पित करते थे। शास्त्रों के अनुसार इन बातों का ध्यान हमें भी रखना चाहिए। इस प्रकार की गई दिन की शुरुआत से सभी कार्यों में सफलता...
    1 mins ago
  • सूर्यास्त के बाद हनुमानजी के सामने करना चाहिए दीपक का ये उपाय
    उज्जैन। कलियुग में हनुमानजी की पूजा सबसे जल्दी मनोकामनाएं पूर्ण करने वाली मानी गई है। जो भी व्यक्ति सही विधि से बजरंग बली को मनाने का उपाय करता है, उसे जल्दी ही शुभ फल प्राप्त हो सकते हैं। यदि आप भी हनुमानजी के भक्त हैं और धन संबंधी समस्याओं से मुक्ति पाना चाहते हैं तो यहां दीपक का एक उपाय बताया जा रहा है। यह उपाय सूर्यास्त के बाद करना है। उपाय करने से पहले ध्यान रखें ये सामान्य सावधानियां... हनुमानजी के पूजन में साफ-सफाई और पवित्रता का विशेष ध्यान रखना अनिवार्य है। किसी भी प्रकार की...
    22 mins ago
  • ये उपाय करते रहेंगे तो मिलती है लंबी उम्र और बढ़ती है धन-संपत्ति
    उज्जैन। इस सृष्टि की रचना शिवजी की इच्छा मात्र से ही हुई है। शिवपुराण में बताया गया है कि ब्रह्माजी ने शिवजी की इच्छा के अनुसार संपूर्ण सृष्टि रची है। महादेव ने इसके संचालन का कार्य भगवान श्रीहरि को सौंपा है। इसी कारण शिवजी का पूजन सभी इच्छाओं को पूर्ण करने वाले माना गया है। जो भी व्यक्ति भोलेनाथ की आराधना करता है, उसे सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। उसके पाप नष्ट हो जाते हैं, अक्षय पुण्य प्राप्त होता है। यदि आप भी शिवजी की कृपा से स्वास्थ्य, उम्र और धन संबंधी परेशानियों से मुक्ति...
    November 22, 02:27 PM
  • आज शनिश्चरी अमावस, राशि अनुसार करेंगे ये उपाय तो दूर हो सकती है दरिद्रता
    उज्जैन। आज, 22 नवंबर 2014 को विशेष योग बन रहा है। इस दिन हिन्दी पंचांग के अनुसार अमावस यानी अमावस्या तिथि रहेगी। शनिवार को आने वाली अमावस्या तिथि का विशेष महत्व बताया गया है। इस दिन काफी लोग पवित्र नदियों में स्नान के लिए पहुंचते हैं। साथ ही, शनि देव की प्रसन्नता के लिए कई प्रकार के उपाय किए जाते हैं। यहां जानिए राशि अनुसार कौन-कौन से उपाय किए जा सकते हैं... मेष राशि- शनि अमावस्या के दिन सूर्योदय से पूर्व नित्यकर्म से निवृत्त होकर सवा किलो बाजरा मिट्टी के पात्र में भरकर उसके ऊपर चौमुखा सरसों के तेल...
    November 22, 01:06 PM
  • इस उपाय से मिलती है तेज बुद्धि, दूर होते हैं 5 क्लेश और 6 विकार
    उज्जैन। आज के दौर में जिन लोगों की बुद्धि तेज है, वे ही तेजी से सफलता प्राप्त कर पाते हैं। हर क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा काफी अधिक हो गई है। ऐसे में जो लोग हालात को समझने में अधिक समय लगाते हैं, वे सफलता प्राप्त नहीं कर पाते हैं, घर-परिवार में सामंजस्य नहीं बना पाते हैं। आज काफी लोग क्लेश-विकार के भी शिकार हैं। क्लेश यानी कष्ट, मानसिक तनाव, चिंता और विकार यानी दोष, बुराई। तेज बुद्धि के साथ ही क्लेश और विकार दूर करने के लिए सबसे सरल उपाय है नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ किया जाए। ये हैं 5 क्लेश-...
    November 21, 05:54 PM
  • सप्ताह में एक बार महालक्ष्मी के सामने करें नारियल का ये एक उपाय
    उज्जैन। यदि कड़ी मेहनत के बाद भी उचित प्रतिफल प्राप्त नहीं हो रहा है और पैसों की तंगी का सामना करना पड़ रहा है तो यहां एक उपाय बताया जा रहा है। यह उपाय नारियल से संबंधित है। यह उपाय बहुत सरल है। माना जाता है कि इस उपाय से महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। उपाय की पूरी विधि है और सही विधि से ही यह उपाय शुक्रवार को किया जाना चाहिए। इसके प्रभाव से कई समस्याओं का निवारण हो सकता है। जीवन में क्यों आती हैं परेशानियां ज्योतिष के अनुसार यदि कुंडली में ग्रहों की स्थिति यदि विपरीत हो तो धन संबंधी...
    November 20, 08:25 AM
  • ऐसे मालूम हो जाता है किसी स्त्री का प्रेमी या पति कैसा हो सकता है
    उज्जैन। सामान्यत: सभी अविवाहित लोगों की यह जानने के लिए उत्सुकता रहती है कि उनका जीवन साथी कैसा होगा? उसका स्वभाव कैसा होगा? इन प्रश्नों के उत्तर कुंडली अध्ययन से मालूम किए जा सकते हैं। भृगु संहिता के अनुसार कुंडली का सप्तम भाव विवाह का कारक स्थान माना जाता है। बारह लग्न की कुंडलियां बताई गई हैं और हर एक लग्न में सप्तम भाव अलग राशि का होता है। अलग-अलग लग्न के अनुसार सप्तम भाव की राशि और स्वामी भी बदल जाता है। अत: यहां जैसी राशि रहती है, व्यक्ति का जीवन साथी भी वैसा ही रहता है। यहां जानिए किसी...
    November 19, 12:01 PM
  • शनि रहेगा वृश्चिक में, नाम राशि से जानिए आपके लिए कैसे हैं आने वाले ढाई साल
    उज्जैन। रविवार, 2 नवंबर 2014 की शाम 6.45 बजे शनि राशि बदलकर वृश्चिक राशि में आ गया है। वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल है, जो शनि का परम शत्रु है।अब करीब-करीब 27 महीनों तक शनि वृश्चिक राशि में रहेगा एवं सभी 12 राशियों पर असर बनाए रखेगा। इस दौरान शनि वक्री भी होगा, इस कारण शनि 27 माह से कुछ ज्यादा समय तक वृश्चिक राशि में रहेगा। अब तक शनि तुला राशि में था और वृश्चिक में आने से इसका असर पूरी तरह बदल गया है। शनि के राशि परिवर्तन की तिथि में पंचांग भेद भी हैं। कुछ पंचांग के अनुसार शनि ने 1 नवंबर को ही राशि बदल ली है।आपके...
    November 18, 02:37 PM
  • इस राशि के पुरुष होते हैं मध्यम कद-काठी वाले
    (फोटो- धनु राशि का चिह्न) उज्जैन। जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे. है, उनकी राशि धनु मानी गई है। इस राशि का स्वामी गुरु ग्रह है। गुरु ग्रह के कारण इस राशि के अधिकतर लोग धार्मिक स्वभाव वाले होते हैं। पूजन आदि कर्मों में इन्हें विशेष आनंद मिलता है। इस राशि के पुरुष मध्यम कद-काठी के होते हैं। इनका स्वभाव आकर्षक होता है। सामान्यत: इस राशि के पुरुषों को ऐसी स्त्रियां अधिक आकर्षित करती हैं जो सौंदर्य प्रसाधन की सामग्रियों का उपयोग कम से कम करती हैं। जो स्त्रियां ब्यूटी...
    November 18, 10:47 AM
  • इन पेड़ों की जड़ों से हो सकता है भाग्योदय, जानिए प्राचीन उपाय
    उज्जैन। आज के दौर में काफी लोग ज्योतिष विद्या को भी एक विज्ञान ही मानते हैं। इस विद्या से भूत, भविष्य और वर्तमान की जानकारी मिल सकती है। साथ ही, जीवन को सुखी और समृद्धिशाली बनाने के उपाय भी मालूम किए जा सकते हैं। कुंडली के 12 घरों में ग्रहों की अच्छी-बुरी स्थिति के अनुसार ही हमारा जीवन चलता है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में कोई ग्रह अशुभ स्थिति में हो तो व्यक्ति का भाग्योदय नहीं हो पाता है। यहां जानिए पेड़ों की जड़ों के उपाय, जिनसे ग्रह दोष दूर होते हैं और व्यक्ति का भाग्योदय हो सकता है... अशुभ फल...
    November 18, 08:28 AM
  • इन दिनों में शुरू करेंगे नया काम तो नहीं मिलती है लक्ष्मी कृपा
    उज्जैन। किसी भी शुभ कार्य को प्रारंभ करने से पहले शुभ मुहूर्त या विशेष ग्रह स्थिति देखी जाती है। ज्योतिष के अनुसार कुछ ऐसी तिथियां बताई गई हैं जो विशेष परिस्थितियों में अशुभ फल देती हैं। अत: इन तिथियों पर कोई भी नया काम शुरू नहीं करना चाहिए। यदि इन वर्जित किए गए दिनों में नया काम शुरू किया जाता है तो उसमें सफलता मिलने की संभावनाएं काफी कम रहती है। लक्ष्मी की प्रसन्नता प्राप्त नहीं हो पाती है, जिससे आशा के अनुरूप धन लाभ भी प्राप्त नहीं हो पाता है। यहां जानिए किन दिनों में नया काम प्रारंभ करने से...
    November 17, 03:21 PM
  • जानिए सभी 9 ग्रहों के शुभ-अशुभ फल और कौन सा उपाय करना चाहिए
    उज्जैन। ऐसा माना जाता है कि किसी भी व्यक्ति का जीवन कर्मों के साथ ही कुंडली में ग्रहों की स्थिति पर भी निर्भर करता है। कई बार व्यक्ति मेहनत अधिक करता है, लेकिन आशा के अनुरूप फल प्राप्त नहीं कर पाता है। ज्योतिष के अनुसार यदि कुंडली में कोई ग्रह दोष हो तो कार्यों में आसानी से सफलता नहीं मिल पाती है। कुंडली 12 भागों में विभक्त रहती है और इन 12 भागों में ही नौ ग्रहों की अलग-अलग स्थितियां रहती हैं। सभी ग्रहों के शुभ-अशुभ फल होते हैं। हमारी कुंडली में जो ग्रह अच्छी स्थिति में होता है, वह हमें अच्छा फल...
    November 15, 08:39 AM
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें