Home >> Jeevan Mantra >> Jyotish >> Desh Duniya
  • 79 साल बाद सबसे अधिक चमकेगा मंगल, जानिए आपकी राशि पर असर
    उज्जैन। लाल ग्रह मंगल 79 वर्ष के बाद सबसे अधिक चमकीला नजर आएगा। 25 से 27 अगस्त तक आसमान में यह अद्भुत खगोलीय घटना होगी, जिसे टेलीस्कोप के जरिए आम लोग भी देख सकेंगे। मंगल पृथ्वी के काफी निकट रहेगा और शनि की इस पर दृष्टि होने से यह सबसे अधिक चमकीला दिखाई देगा। इसके पहले 1935 में ऐसी घटना होने की जानकारी मिली है। जीवाजी वेधशाला उज्जैन के अधीक्षक डॉ. राजेंद्र प्रसाद गुप्त ने कहा इस अवधि में चमकीला तारा स्पाइक भी मंगल के आसपास रहेगा जिससे मंगल की चमक और बढ़ेगी। उज्जैन के पंचांगकर्ता एवं ज्योतिषाचार्य पं....
    August 18, 01:21 PM
  • 10 Aug को राखी, है विशेष योग, राखी परंपरा के रोचक किस्से जो इतिहास बन गए
    उज्जैन​। रक्षाबंधन का त्योहार श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस वर्ष रक्षाबंधन पर्व 10 अगस्त को मनाया जाएगा। इस रक्षाबंधन पर आयुष्मान योग बन रहा है। इस शुभ मुहूर्त में राखी बांधने से भाइयों की आयु में वृद्धि होगी। रक्षाबंधन मनाने का सही समय ज्योतिष में श्रवण नक्षत्र के पहले दो प्रहर छोड़कर दोपहर में माना गया है। इस बार ये हैं शुभ मुहूर्त- इस बार रक्षाबंधन के लिए दोपहर 1.30 से 3 बजे तक व शाम 6.30 से 7.30 तक का शुभ रहेगा। - वहीं शाम 7.30 से रात 9 बजे तक अमृत और रात 9 से 10.30 बजे तक चर का चौघडिया रहेगा। -...
    August 7, 01:45 PM
  • आज है शनि की साढ़ेसाती या ढय्या से जूझ रहे लोगों के लिए विशेष दिन, जानें क्यों?
    उज्जैन। कल यानी शनिवार 26 जुलाई को अमावस्या है। इसीलिए कल शनिश्चरीअमावस्या होने के साथ ही सावन की अमावस्या जिसे हरियाली अमावस्या कहते हैं भी है। इसी कारण कल के दिन शनि से संबंधित दान कालसर्प पूजन के लिए विशेष रहेगा। कल अमावस्याहोने के कारण यह तिथि दोगुना पुण्य देने वाली हो गई है। सावन माह में वैसे भी शिव और शक्ति का पूजन सुख व समृद्धि देने वाला माना गया है। इसीलिए कल के दिन शनि पूजन के साथ-साथ भगवान शिव के रुद्राभिषेक का भी बहुत महत्व है। इस बार दोपहर बाद तीन बजे से पुष्य नक्षत्र भी लग रहा है,...
    July 26, 12:17 PM
  • पंचक आज रात से, 5 दिन तक ध्यान रखें इन 5 बातों का
    फोटो- ग्रह-नक्षत्रों का डेमो पिक उज्जैन।अपने जीवन में कभी न कभी हम सभी पंचक के बारे में जरूर सुनते हैं। भारतीय ज्योतिष में इसे अशुभ समय माना गया है। पंचक के दौरान कुछ विशेष कार्य करने की मनाही है। भारतीय ज्योतिष के अनुसार जब चन्द्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है, तब उस समय को पंचक कहते हैं। यानी घनिष्ठा से रेवती तक जो पांच नक्षत्र (धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उत्तरा भाद्रपद एवं रेवती) होते हैं, उन्हें पंचक कहा जाता है। इस बार पंचक का प्रारंभ 14 जुलाई, सोमवार को रात 03 बजकर 05 मिनिट से होगा, जो 19...
    July 14, 06:00 AM
  • बारिश कराने के लिए लोग करते हैं ऐसे टोटके, लौट लगाते हैं कीचड़ में
    फोटो- कीचड़ में लौट लगाते व्यक्ति का डेमो पिक। उज्जैन। इस वर्ष अब तक देश के अधिकांश हिस्सों में बारिश नहीं हुई है, जिससे कई राज्य सूखे की चपेट में आ गए हैं। मौसम विभाग और कई ज्योतिषियों ने भी कम बारिश की ही भविष्यवाणियां की हैं। सूखे की मार से बचने के लिए लोग कई प्रकार के अजीब टोटके कर रहे हैं, ताकि इंद्र देव की प्रसन्नता से बारिश हो जाए। भारत के अलग-अलग क्षेत्रों में बारिश कराने के लिए अजीबोगरीब टोटके करने की कई प्राचीन परंपराएं चली आ रही हैं।कई स्थानों पर बारिश के लिए गांव के वृद्धजन कीचड़ में...
    July 6, 12:05 AM
  • पंचक आज शाम से, इन 5 दिनों में न करें ये 5 काम
    उज्जैन।अपने जीवन में कभी न कभी हम सभी पंचक के बारे में जरूर सुनते हैं। भारतीय ज्योतिष में इसे अशुभ समय माना गया है। पंचक के दौरान कुछ विशेष कार्य करने की मनाही है। भारतीय ज्योतिष के अनुसार जब चन्द्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है, तब उस समय को पंचक कहते हैं। यानी घनिष्ठा से रेवती तक जो पांच नक्षत्र (धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उत्तरा भाद्रपद एवं रेवती) होते हैं, उन्हें पंचक कहा जाता है। इस बार पंचक का प्रारंभ 17 जून, मंगलवार को शाम 06 बजकर 56 मिनिट से होगा, जो 21 जून, शनिवार को रात 01 बजकर 04 मिनिट तक...
    June 17, 10:57 AM
  • स्वर्ण मंदिर से जुड़ी खास बातें, कई बार टूटा और फिर बना है ये मंदिर
    उज्जैन। शुक्रवार को अमृतसर के गोल्डन टेंपल में ऑपरेशन ब्लूस्टार की 30वीं वर्षगांठ के मौके पर दरबार साहिब परिसर में जमकर तलवारें चल गई थीं और यहां 12 लोग जख्मी हो गए थे। इस विवाद के कारण स्वर्ण मंदिर चर्चाओं में बना हुआ है। स्वर्ण मंदिर की ख्याति विश्वभर में फैली हुई है और बड़ी संख्या में देश-विदेश से लोग यहां पहुंचते हैं। सिक्ख धर्म के लोगों के साथ ही अन्य धर्म के लोग भी यहां पूरी आस्था के साथ सिर झुकाते हैं। यहां जानिए सिक्ख धर्म के सबसे पवित्र स्वर्ण मंदिर से जुड़ी कुछ खास बातें... पंजाब के...
    June 7, 12:25 PM
  • षड़ाष्टक योग बनने से बढ़ रही है गर्मी, 6 जून के बाद मिलेगी राहत
    उज्जैन।इन दिनों देश भर में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। गर्म लू और लपट के चलते लोग बेहाल हो रहे हैं। गर्मी का सबसे ज्यादा प्रकोप उत्तर भारत में देखने को मिल रहा है। वहीं राजस्थान में लू के चलते कई लोगों की मौत भी हो चुकी है। ज्योतिषियों की मानें तोग्रह-नक्षत्रों के योग के कारण ऐसा हो रहा है। ज्योतिषाचार्य पं. श्यामनारायण व्यास के अनुसार 25 मई को नवतपा शुरू हुआ था, जो 2 जून को समाप्त हो गया, लेकिन गर्मी अभी भी कम होने का नाम नहीं ले रही। इसका मुख्य कारण ग्रह-नक्षत्रों का संयोग है। 6 जून के बाद भीषण...
    June 6, 11:45 AM
  • इंसान की खोपड़ी में खाना खाते और पानी पीते हैं कापालिक, जानिए रोचक बातें
    उज्जैन।अगर कोई आपको इंसान की खोपड़ी में भोजन परोसे या पानी पिलाए तो क्या आप इसे ग्रहण कर सकेंगे। आपके लिए ये सोचना भी कितना दुष्कर हो सकता है, लेकिन कापालिक संप्रदाय के लोग इंसान की खोपड़ी में ही भोजन करते और पानी पीते हैं। तंत्र शास्त्र के अनुसार कापालिक संप्रदाय के लोग शैव संप्रदाय के अनुयायी होते हैं। क्योंकि ये लोग मानव खोपडिय़ों (कपाल) के माध्यम से खाते-पीते हैं, इसीलिए इन्हें कापालिक कहा जाता है। कापालिकों के बार में और अधिक जानने के लिए अगले फोटो पर क्लिक करें- जीवन मंत्र द्वारा...
    June 4, 12:20 PM
  • कितनी तरह से शरीर से निकलती है जान, जानिए मौत से जुड़ी ये सच्चाई
    उज्जैन।मौत एक ऐसी सच्चाई है, जिसे कोई झूठला नहीं सकता। एक न एक दिन मौत सभी को आनी है। इस सच्चाई को जानते हुए भी हम मौत से घबराते हैं। आखिर क्या है मौत का राज? क्यों होती है किसी की मृत्यु? यह वह सवाल है जो मानव मस्तिष्क को हमेशा परेशान करते आए हैं। शरीर से प्राण निकलने के भी कई कारण होते हैं। आज हम आपको मौत से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बता रहे हैं जो शायद अब तक आप नहीं जानते होंगे और जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें और जानिए मौत से जुड़ी कुछ हैरान कर देने वाली बातें-
    May 30, 01:00 AM
  • खुले स्थान पर विराजित हैं शनि, यहां आने वाले लोगों को मिलता है चमत्कारी लाभ
    उज्जैन। इस वर्ष 28 मई 2014, बुधवार को शनि जयंती मनाई जाएगी। इस दिन देशभर के सभी शनि मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहेगा। शनिदेव की कृपा पाने के लिए बड़ी संख्या में लोग शनि जयंती पर कई प्रकार के चमत्कारी उपाय करते हैं। इस दिन शनिदेव के जन्म स्थान पर शनि दर्शन करने का विशेष महत्व है। क्या आप जानते हैं शनि देव का जन्म कहां हुआ है? शनि के माता-पिता कौन हैं? यदि नहीं हो तो यहां जानिए शनि के जन्म स्थान और शनि के माता-पिता से जुड़ी खास बातें... शिंगणापुर में हुआ था शनि का जन्म महाराष्ट्र में एक छोटा सा...
    May 27, 12:05 AM
  • जानिए मोदी ने शपथ ग्रहण के लिए शाम 6 बजे का समय ही क्यों रखा
    उज्जैन। लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत के बाद नरेंद्र मोदी ने आज शाम 6 बजे पीएम पद की शपथ ग्रहण कर ली है। काफी लोग ये बात जानना चाहता है मोदी ने शपथ ग्रहण के लिए शाम 6 बजे का समय ही क्यों निर्धारित किया था। अभी तक कई बार ये बात सिद्ध हो गई है कि नरेंद्र मोदी हिंदू धर्म में गहरी आस्था रखते हैं और प्राचीन परंपराओं का पालन करते हैं। शास्त्रों के अनुसार शाम का समय सभी शुभ कार्यों के श्रेष्ठ बताया गया है। शाम 6 बजे के समय को गोधुली बेला कहा जाता है, इस समय में किए गए समस्त शुभ कार्य और मांगलिक कार्य स्थिर...
    May 26, 06:26 PM
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें