Home >> Jeevan Mantra >> Jyotish >> Desh Duniya
  • तिलक से भी होती है साधु की पहचान, जानिए कितने प्रकार के होते हैं तिलक
    उज्जैन। हिंदू धर्म में अनेक परंपराएं प्रचलित हैं। रोज सुबह स्नान आदि करने के बाद भगवान का विधि-विधान से पूजन करना व उसके बाद तिलक लगाना भी एक हिंदू परंपरा ही है। तिलक भी अलग-अलग चीजों के लगाए जाते हैं। कोई चंदन का तिलक लगाता है तो कोई सिंदूर का। इनके अलावा भी कई चीजों से तिलक लगाया जाता है। तिलक लगाने के पीछे न सिर्फ धार्मिक बल्कि वैज्ञानिक कारण भी निहित है। अगर यह कहा जाए कि तिलक लगाना, हिंदू धर्म परंपराओं का सबसे अभिन्न अंग है, तो अतिश्योक्ति नहीं होगी। आपने अभी तक केवल दो या तीन तरह के ही तिलक...
    01:00 AM
  • AMAZING: हनुमानजी को प्रिय है सिंदूर, लेकिन यहां सिंदूर से नहीं होता श्रृंगार
    शशिकांत साल्वी. उज्जैन। कुछ ही दिनों बाद मंगलवार, 15 अप्रैल को हनुमान जयंती है। शास्त्रों के अनुसार मंगलवार को ही बजरंग बली का जन्म हुआ है। इस वजह से इस वर्ष हनुमान जयंती विशेष फल देने वाली है। इस दुर्लभ योग में जो भी व्यक्ति हनुमानजी की भक्ति और दर्शन करेगा, उसके सभी दुख-दर्द दूर हो जाएंगे। आमतौर सभी लोग यही जानते हैं कि हनुमानजी के श्रृंगार में विशेष रूप से सिंदूर का उपयोग किया जाता है। लेकिन एक मंदिर ऐसा है, जहां बजरंग बली का श्रृंगार सिंदूर से नहीं बल्कि हिंगलू से किया जाता है। हिंगलू लाल रंग...
    April 12, 10:52 AM
  • 31 से शुरू होगा विक्रम संवत् 2071, बढ़ सकती हैं आतंकी घटनाएं!
    उज्जैन। हिंदू पंचांग के अनुसार इस वर्ष 31 मार्च 2014 से विक्रम संवत् 2071 का प्रारंभ होगा। इस वर्ष सोम युग में प्लवंग नामक संवत्सर रहेगा, जिसके स्वामी बुध हैं। इस संवत्सर के राजा चंद्र, मंत्री चंद्र, धनेश बुध, फलेश सूर्य हैं। साथ ही दुर्गेश का पद भी सूर्य के पास ही रहेगा। जानिए ज्योतिष की दृष्टि से यह साल कैसा रहेगा- तुष धान्यानि नश्यंति मेघों वर्षाति माधवे। प्लवंगे पीडि़ता: सर्वे भूमिकम्पों भवेत्कवचित।। अर्थात- प्लवंग संवत् में भूसे से निकलने वाले अनाजों की फसलें नष्ट होती हैं। वैशाख मास में ही...
    March 27, 11:56 AM
  • 27 से शुरू होगा पंचक, जानिए इन 5 दिनों में क्या काम नहीं करें
    उज्जैन। भारतीय ज्योतिष के अनुसार जब चन्द्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है, तब उस समय को पंचक कहते हैं। यानी घनिष्ठा से रेवती तक जो पांच नक्षत्र (धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उत्तरा भाद्रपद एवं रेवती) होते हैं, उन्हे पंचक कहा जाता है। कुछ विद्वानों ने इन नक्षत्रों को अशुभ माना है। इसलिए पंचक में कुछ कार्य विशेष नहीं किए जाते हैं। इस बार पंचक का प्रारंभ 27 मार्च, गुरुवार को शाम 06 बजकर 05 मिनिट से होगा, जो 31 मार्च, सोमवार को रात 01 बजकर 07 मिनिट तक रहेगा। नक्षत्रों का प्रभाव - धनिष्ठा नक्षत्र में अग्नि का...
    March 25, 12:13 PM
  • ये हैं नागाओं से जुड़ी वो रहस्यमयी बातें, जो आपको कोई नहीं बताएगा
    उज्जैन। कई लोग साधु-संतों को देखकर कह देते हैं कि इन्हें दुनिया से क्या? साधु बनना तो बहुत आसान है। मगर हकीकत ये है कि साधु, सन्यासी बनने की राह इतनी कठिन होती है कि अच्छे-अच्छों के पसीने छूट जाएं। नागा साधु बनने की प्रक्रिया आसान नहीं होती। उन्हें इतने कठोर नियम-कायदों और अनुशासन का पालन करना पड़ता है, जितने हमारे सामान्य जीवन में नहीं होते। जूना अखाड़े के महंत विजय गिरि महाराज के मुताबिक नागाओं को सेना की तरह तैयार किया जाता है। सेना की ट्रेनिंग से भी ज्यादा सख्त ट्रेनिंग नागा साधुओं की होती...
    March 18, 12:10 PM
  • मार्च कैलेंडर: जानिए कब-कब हैं प्रमुख योग, शुभ मुहूर्त व व्रत-त्योहार
    उज्जैन। ज्योतिष के अनुसार कोई भी शुभ कार्य यदि किसी खास योग में किया जाए तो उसका सामान्य से अधिक फल मिलता है। इसलिए हिंदू धर्म में प्रमुख योग तथा शुभ मुहूर्त का विशेष महत्व है। जानिए मार्च महीने में कब-कब प्रमुख योग बनेंगे तथा इस महीने के शुभ मुहूर्त व व्रत-त्योहार- प्रमुख योग सर्वार्थ सिद्धि योग- ता. 2 को 6/41 शाम से रात अंत तक। ता. 4 को 5/22 शाम से रात अंत तक। ता. 8 को सूर्योदय से 8/11 रात तक। ता. 16 को 12/20 दिन से रात अंत तक। ता. 21 को 3/3 दिन से रात अंत तक। ता. 23 को 1/6 दिन से रात अंत तक। ता. 30 को सूर्योदय से 1/42 रात तक। अमृत...
    March 2, 06:00 AM
  • पंचक: 4 मार्च तक ध्यान रखें ये खास बातें, जानिए क्या न करें
    उज्जैन।ज्योतिष के अनुसार जब चन्द्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है, तब उस समय को पंचक कहते हैं। यानी घनिष्ठा से रेवती तक जो पांच नक्षत्र (धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उतरा भाद्रपद एवं रेवती) होते हैं, उन्हे पंचक कहा जाता है। कुछ विद्वानों ने इन नक्षत्रों को अशुभ माना है। इसलिए पंचक में कुछ कार्य विशेष नहीं किए जाते हैं। इस बार पंचक का प्रारंभ आज यानी 28 फरवरी, शुक्रवार को सुबह 10 बजकर 03 मिनिट से होगा, जो 4 मार्च, मंगलवार को शाम 05 बजकर 22 मिनिट तक रहेगा। नक्षत्रों का प्रभाव - धनिष्ठा नक्षत्र में अग्नि...
    February 28, 05:25 PM
  • 13 फरवरी को खरीदी का महामुहूर्त, जानिए शुभ मुहूर्त और खास बातें
    उज्जैन। वर्ष 2014 का पहला खरीदी का महामुहूर्त गुरु पुष्य 13 फरवरी को है। इस दिन सर्वार्थसिद्धि, अमृत सिद्धि योग का संयोग भी बन रहा है। इसमें बाजार से सोना-चांदी, इलेक्ट्रॉनिक आइटम और वाहन खरीदी शुभ है। पंचांगकर्ता एवं ज्योतिषाचार्य पं. श्यामनारायण व्यास के अनुसार पुष्य नक्षत्र 12 फरवरी की शाम 7.30 बजे से लग जाएगा, जो 13 फरवरी की रात 10.21 बजे तक रहेगा। पुष्य की मान्यता उदियात तिथि मानी जाती है, इसलिए 13 फरवरी की सुबह 7.05 बजे सूर्योदय के समय से गुरु पुष्य मान्य होगा। इस प्रकार रात तक यह 16 घंटे का होगा।...
    February 12, 05:20 PM
  • श्मशान और अघोरियों का खास रिश्ता, जानिए इनसे जुड़ी खास बातें
    उज्जैन। अघोरियों का नाम सुनते ही न जानें क्यों दिमाग में एक डरावना चित्र उभर आता है। अघोरियों का जीवन जितना कठिन है, उतना ही रहस्यमयी भी। अघोरियों की साधना विधि सबसे ज्यादा रहस्यमयी है। उनकी अपनी शैली, अपना विधान है, अपनी अलग विधियां हैं। अघोरी उसे कहते हैं जो घोर नहीं हो। यानी बहुत सरल और सहज हो। जिसके मन में कोई भेदभाव नहीं हो। अघोरी हर चीज को समान भाव से देखते हैं। वे सड़ते जीव के मांस को भी उतना ही स्वाद लेकर खा सकते हैं, जितना स्वादिष्ट पकवानों को स्वाद लेकर खाया जा सकता है। अघोरियों की...
    February 10, 01:40 PM
  • लक्ष्मी और रवि योग के साथ मनेगा वसंत पंचमी पर्व, जानिए खास बातें
    उज्जैन। कल (4 फरवरी, मंगलवार) वसंत पंचमी का पर्व है। धर्म ग्रंथों के अनुसार माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को यह पर्व मनाया जाता है। इस दिन माता सरस्वती का पूजन करने का विधान है। इस बार वसंत पंचमी पर दो खास योग बन रहे हैं जो शुभ कार्यों की शुरुआत के लिए बहुत ही श्रेष्ठ हैं। ज्योतिषाचार्य पं. श्यामनारायण व्यास के मुताबिक 4 फरवरी को वसंत पंचमी पर लक्ष्मी योग बन रहा है साथ ही इस दिन 24 घंटे रवि योग भी रहेगा, जो विवाह-खरीदी एवं कोई भी शुभ कार्य की शुरुआत के लिए सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त माना जाता है।...
    February 3, 01:00 AM
  • आज रात से लगेगा पंचक, जानिए क्या करें और क्या नहीं करें इन 5 दिनों में
    उज्जैन। भारतीय ज्योतिष के अनुसार जब चन्द्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है तब उस समय को पंचक कहते हैं। यानी घनिष्ठा से रेवती तक जो पांच नक्षत्र (धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उतरा भाद्रपद एवं रेवती) होते है उन्हे पंचक कहा जाता है। कुछ विद्वानों ने इन नक्षत्रों को अशुभ माना है इसलिए पंचक में कुछ कार्य विशेष नहीं किए जाते हैं। इस बार पंचक का प्रारंभ आज यानी 31 जनवरी, शुक्रवार की रात 01 बजकर 59 मिनिट से हो रहा है जो 5 फरवरी, बुधवार को सुबह 09 बजकर 34 मिनिट तक रहेगा। नक्षत्रों का प्रभाव - धनिष्ठा नक्षत्र में...
    January 31, 01:00 AM
  • क्या सचमुच होता है पुनर्जन्म? इस किताब में लिखी हैं कुछ अद्भुत घटनाएं
    उज्जैन। हिंदू धर्म में अनेक मान्यताएं प्रचलित हैं लेकिन विज्ञान इनमें से कई बातों को नहीं मानता। हिंदू धर्म में पुनर्जन्म की मान्यता भी है। हिंदू धर्म के अनुसार मनुष्य का केवल शरीर मरता है उसकी आत्मा नहीं। आत्मा एक शरीर का त्याग कर दूसरे शरीर में प्रवेश करती है, इसे ही पुनर्जन्म कहते हैं। कई लोग पुनर्जन्म को कोरी बकवास मानते हैं, लेकिन पुनर्जन्म को लेकर कई ऐसे मामले भी सामने आए हैं जिससे कि इसे पूरी तरह से नकारा भी नहीं जा सकता। गीताप्रेस गोरखपुर द्वारा प्रकाशित पुस्तकपरलोक और पुनर्जन्मांक...
    January 23, 01:00 AM
Ad Link
 
विज्ञापन
 
 
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें