Home» Jeevan Mantra » Hindu Gods» Lord Ganesha

Lord Ganesha: आरतियां, मंत्र, स्तुतियां, पूजन विधि, व्रत कथा

Religion Bhaskar | Nov 10, 2016, 17:27 IST

Lord Ganesha: आरतियां, मंत्र, स्तुतियां, पूजन विधि, व्रत कथा

Lord Ganesha: आरतियां, मंत्र, स्तुतियां, पूजन विधि, व्रत कथा

किसी भी शुभ काम से पहले भगवान श्रीगणेश की पूजा की जाती है, इसलिए इन्हें प्रथम पूज्य भी कहा जाता है। श्रीगणेश शिवजी और पार्वती के पुत्र हैं। उनका वाहन मूषक है। गणों के स्वामी होने के कारण उनका एक नाम गणपति भी है। ज्योतिष में इनको केतु का देवता माना जाता है और जो भी संसार के साधन हैं, उनके स्वामी श्री गणेशजी हैं। हाथी जैसा सिर होने के कारण उन्हें गजानन भी कहते हैं। गणेश कि उपसना करने वाला सम्प्रदाय गाणपतेय कहलाते है। धर्म ग्रंथों के अनुसार इनकी दो पत्नियां हैं- रिद्धि व सिद्धि। इनके दो पुत्र भी हैं क्षेम व लाभ। श्रीगणेश ने महर्षि वेदव्यास के कहने पर महाभारत जैसा महाकाव्य लिखा है।

Lord Ganesha : आरतियां

श्री गणेश आरती

आरती का अर्थ है पूरी श्रद्धा के साथ परमात्मा की भक्ति में डूब जाना। भगवान को प्रसन्न करना। इसमें परमात्मा में लीन होकर भक्त अपने देव की सारी बलाए स्वयं पर ले लेता है और भगवान को स्वतन्त्र होने का अहसास कराता है। आरती को नीराजन भी कहा जाता है। नीराजन का अर्थ है विशेष रूप से प्रकाशित करना। यानी कि देव पूजन से प्राप्त होने वाली सकारात्मक शक्ति हमारे मन को प्रकाशित कर दें। व्यक्तित्व को उज्जवल कर दें। बिना मंत्र के किए गए पूजन में भी आरती कर लेने से पूर्णता आ जाती है। आरती पूरे घर को प्रकाशमान कर देती है, जिससे कई नकारात्मक शक्तियां घर से दूर हो जाती हैं। जीवन में सुख-समृद्धि के द्वार खुलते हैं। भगवान श्रीगणेश की आरती जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।। जय गणेश देवा। एक दंत दयावंत चार भुजा धारी। मस्तक सिंदूरसोहे मुसे की सवारी।। जय गणेश देवा। पान चढ़े फूल चढ़े और चढ़े मेवा। लड्डूअन का भोग लागे संत करे सेवा।। जय गणेश देवा। अंधन को आंखदेत कोढिनको काया बांझन को पुत्र देत निर्धन को माया।। जय गणेश देवा। हार चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा। सूरश्याम शरण आए सफल कीजे सेवा।। जय गणेश देवा। जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा।। जय गणेश देवा। विघ्नहरण मंगलकरण, काटन सकल क्लेश। सबसे पहले सुमरिए गौरी-पुत्र गणेश।। जय गणेश देवा।

और पढ़ें

Lord Ganesha : पूजन की विधि

बुधवार को ऐसे करें श्री गणेश का पूजन

पुरानी मान्यता है कि श्री गणेश की पूजा का विशेष दिन है बुधवार। साथ ही, इस दिन बुध ग्रह के निमित्त भी पूजा की जाती है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह अशुभ स्थिति में हो तो बुधवार को ऐसे करें श्री गणेश का पूजन श्रीगणेश को सिंदूर, चंदन, यज्ञोपवीत, दूर्वा, लड्डू या गुड़ से बनी मिठाई का भोग लगाएं। धूप व दीप लगाकर आरती करें। पूजन में इस मंत्र का जप करें- मंत्र-प्रातर्नमामि चतुराननवन्द्यमानमिच्छानुकूलमखिलं च वरं ददानम्। तं तुन्दिलं द्विरसनाधिपयज्ञसूत्रं पुत्रं विलासचतुरं शिवयो: शिवाय।। प्रातर्भजाम्यभयदं खलु भक्तशोकदावानलं गणविभुं वरकुञ्जरास्यम्। अज्ञानकाननविनाशनहव्यवाहमुत्साहवर्धनमहं सुतमीश्वरस्य।। इस मंत्र का अर्थ यह है कि मैं ऐसे देवता का पूजन करता हूं, जिनकी पूजा स्वयं ब्रह्मदेव करते हैं। ऐसे देवता, जो मनोरथ सिद्धि करने वाले हैं, भय दूर करने वाले हैं, शोक का नाश करने वाले हैं, गुणों के नायक हैं, गजमुख हैं, अज्ञान का नाश करने वाले हैं। मैं शिव पुत्र श्री गणेश का सुख-सफलता की कामना से भजन, पूजन और स्मरण करता हूं।

और पढ़ें

Lord Ganesha : मंत्र और स्तुतियां

गणेश स्तुति

गणेश स्तुति श्लोक ॐ गजाननं भूंतागणाधि सेवितम्, कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम्। उमासुतम् शोक विनाश कारकम्, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम्॥ स्तुति गाइए गणपति जगवंदन। शंकर सुवन भवानी के नंदन।। गाइए गणपति जगवंदन...... सिद्धी सदन गजवदन विनायक। कृपा सिंधु सुंदर सब लायक।। गाइए गणपति जगवंदन...... मोदक प्रिय मृद मंगल दाता। विद्या बारिधि बुद्धि विधाता।। गाइए गणपति जगवंदन...... मांगत तुलसीदास कर जोरे। बसहिं रामसिय मानस मोरे।। गाइए गणपति जगवंदन......

और पढ़ें

Spiritual Quotes

  • किसी से किसी भी तरह की प्रतिस्पर्धा की आवश्यकता नहीं है। आप स्वयं में जैसे हैं, एकदम सही हैं, खुद को स्वीकारिए - ओशो

  • वो सबसे धनवान है जो कम से कम में संतुष्ट है , क्योंकि संतुष्टि प्रकृति कि दौलत है - सुकरात

  • जब लोग तुम्हे गाली दें तो तुम उन्हें आशीर्वाद दो . सोचो , तुम्हारे झूठे दंभ को बाहर निकालकर वो तुम्हारी कितनी मदद कर रहे हैं - स्वामी विवेकानंद

  • अपनी क्षमताओं को जान कर और उनमे यकीन करके ही हम एक बेहतर विश्व का नित्मान कर सकते हैं - दलाई लामा

Trending Now

पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

* किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
Top