विनम्रता ही श्रेष्ठता की पहचान है। कोई कितना भी ऊंचे पद पर हो, अगर वो व्यक्ति विनम्र नहीं है तो वो श्रेष्ठ नहीं है। - हितोपदेश