Home >> Jeevan Mantra >> Dharm >> Utsav
  • गोवत्स द्वादशी (बछवारस) आज, जानिए महत्व व पूजन विधि
    उज्जैन।भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की द्वादशी को गोवत्स द्वादशी कहते हैं। इसे बछवारस के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन महिलाएं गाय व बछड़ों का पूजन करती हैं। यह व्रत पुत्रवती स्त्रियां ही करती हैं। इस बार यह पर्व 22 अगस्त, शुक्रवार को है। यदि किसी के यहां गाय व बछड़े न हों तो वह किसी दूसरे की गाय या बछड़े की पूजा करें। यदि गांव में भी न हों तो गीली मिट्टी से गाय, बछड़ा, बाघ तथा बाघिन की मूर्तियां बनाकर पटिए पर रखकर उनकी पूजा करें। उस पर दही, भीगा हुआ बाजरा, आटा, घी आदि चढ़ाएं। रोली से तिलक करें, चावल और...
    06:00 AM
  • शुक्र प्रदोष आज: ये है व्रत व शिव पूजन की आसान विधि
    उज्जैन। भगवान शिव अपने भक्तों को हर सुख प्रदान करते हैं। प्रत्येक मास की दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथियों को भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत किया जाता है। यह व्रत विभिन्न वारों के साथ संयोग कर अलग-अलग फल प्रदान करता है। इस बार 22 अगस्त को शुक्रवार होने से शुक्र प्रदोष का योग बन रहा है।धर्म ग्रंथों के अनुसार शुक्र प्रदोष व्रत करने से धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष की प्राप्ति होती है। शुक्र प्रदोष व्रत के पालन के लिए शास्त्रोक्त विधान इस प्रकार है। किसी विद्वान ब्राह्मण से यह कार्य कराना...
    06:00 AM
  • जया एकादशी आज: जानिए महत्व, व्रत विधि व रोचक कथा
    उज्जैन।भादौ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को जया एकादशी कहते हैं। धर्म ग्रंथों के अनुसार इसका महत्व स्वयं भगवान श्रीकृष्ण ने धर्मराज युधिष्ठिर को बताया था। उसी के अनुसार यह एकादशी सभी प्रकार के पापों का नाश करने वाली है। इसे अजा एकादशी भी कहते हैं। इस बार यह एकादशी 21 अगस्त, गुरुवार को है। इस व्रत की विधि इस प्रकार है- व्रत विधि एकादशी के दिन सुबह नित्य कर्मों से निवृत्त होकर साफ वस्त्र पहनकर भगवान विष्णु की प्रतिमा के सामने बैठकर व्रत का संकल्प लें। इस दिन यथासंभव उपवास करें। उपवास में...
    August 21, 06:00 AM
  • गणेश चतुर्थी 29 को, घर-घर विराजेंगे गौरीपुत्र भगवान श्रीगणेश
    उज्जैन। भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जाता है। इस दिन घर-घर में भगवान श्रीगणेश की स्थापना की जाती है और व्रत रखा जाता है। धर्म शास्त्रों में श्रीगणेश को प्रथम पूज्य व ज्ञान तथा बुद्धि का देवता माना गया है। सभी शुभ कार्यों से पहले भगवान श्रीगणेश की पूजा का विधान है। इस बार गणेश चतुर्थी का पर्व 29 अगस्त, शुक्रवार को है। गणेश उत्सव का पर्व 10 दिनों तक मनाया जाता है। इन दिनों में हर गली, मोहल्लों व चौराहों पर भी भगवान श्रीगणेश की प्रतिमा स्थापित कर सांस्कृतिक...
    August 21, 06:00 AM
  • श्रीकृष्ण का समधी था दुर्योधन, जानिए कैसे बना ये संबंध
    उज्जैन। महाभारत के युद्ध में कौरवों की पराजय के मुख्य कारण भगवान श्रीकृष्ण थे। जब-जब पांडवों पर हार का संकट गहराने लगा, तब-तब श्रीकृष्ण ने अपनी युक्तियों से पांडवों को विजय दिलवाई। ये बात हम सभी जानते हैं, लेकिन कम ही लोग ये बात जानते हैं कि जिस दुर्योधन को हराने के लिए श्रीकृष्ण ने पांडवों का साथ दिया, वही दुर्योधन भगवान श्रीकृष्ण का समधी था। ऐेसी अनेक बातें हैं जो श्रीमद्भागवत में बताई गई हैं, लेकिन कम ही लोग ये बातें जानते हैं। आज हम आपको श्रीमद्भागवत में लिखी कुछ ऐसी ही रोचक बातें बता रहे...
    August 19, 11:06 AM
  • भगवान विष्णु के 22 वें अवतार थे श्रीकृष्ण, जानिए 24 अवतारों के बारे में
    उज्जैन।बहुत से लोग भगवान विष्णु के प्रमुख 10 अवतारों के बारे में ही जानते हैं, लेकिन विभिन्न धर्म ग्रंथों में भगवान विष्णु के कुल 24 अवतार माने गए हैं। श्रीकृष्ण भगवान विष्णु के 22वे अवतार थे।धर्म ग्रंथों के अनुसार भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को भगवान विष्णु ने श्रीकृष्ण रूप में अवतार लिया था। आज हम आपको भगवान विष्णु के सभी 24 अवतारों के बारे में बता रहे हैं- 1- श्री सनकादि मुनि धर्म ग्रंथों के अनुसार सृष्टि के आरंभ में लोक पितामह ब्रह्मा ने अनेक लोकों की रचना करने की इच्छा से घोर...
    August 19, 11:04 AM
  • गोगा नवमी आज, भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करते हैं गोगादेव
    उज्जैन। भादौ मास की कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि गोगा नवमी के नाम से प्रसिद्ध है। इस दिन श्रीजाहरवीर गोगाजी का जन्मोत्सव बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया जाता है। इस बार ये उत्सव 19 अगस्त, मंगलवार को है। इस अवसर पर बाबा जाहरवीर गोगाजी के भक्तगण अपने घरों में इष्टदेव की थाड़ी(थान-वेदी) बनाकर अखण्ड ज्योति जागरण कराते हैं तथा गोगादेवजी की शौर्य गाथा एवं जन्म कथा सुनते हैं। इस प्रथा को जाहरवीर का जोत कथा जागरण कहते हैं। इस दिन कहीं मेले लगते हैं तो कहीं भव्य शोभायात्रा निकाली जाती है। ऐसी मान्यता है कि...
    August 19, 06:00 AM
  • जन्माष्टमी पूजन की आसान विधि, इन मंत्रों से करें कान्हा की पूजा
    उज्जैन। आज (18 अगस्त, सोमवार) श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व है। धर्म शास्त्रों के अनुसार द्वापर युग में इसी दिन भगवान विष्णु ने श्रीकृष्ण के रूप में जन्म लिया था। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण के निमित्त व्रत रखा जाता है व विशेष पूजन किया जाता है। इस दिन जो भी सच्चे मन से व्रत रखता है, उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है और वह मोह-माया के जाल के मुक्त हो जाता है। यदि यह व्रत किसी विशेष कामना के लिए किया जाए तो वह कामना भी शीघ्र ही पूरी हो जाती है। इस बार दो अष्टमी का संयोग पंचांग के अनुसार इस बार दो दिन (17 व 18...
    August 18, 08:59 AM
  • श्रीकृष्ण ने गर्भ में बचाए थे अभिमन्यु के पुत्र के प्राण, जानिए कैसे
    उज्जैन। श्रीमद्भागवत के अनुसार महाभारत के युद्ध के बाद जब अश्वत्थामा ने सोए हुए द्रौपदी के पुत्रों का वध किया था, तब उसका प्रतिशोध लेने के लिए श्रीकृष्ण व पांडव अश्वत्थामा के पीछे गए। पांडवों का विनाश करने के लिए अश्वत्थामा ने ब्रह्मास्त्र छोड़ा, लेकिन भगवान श्रीकृष्ण की कृपा से पांडव जीवित रहे। तब अश्वत्थामा ने पांडवों के वंश का नाश करने के लिए अपने ब्रह्मास्त्र की दिशा अभिमन्यु की पत्नी उत्तरा के गर्भ की ओर कर दी, जिससे उत्तरा के गर्भ में पल रहे शिशु को प्राणों का भय हो गया। तब श्रीकृष्ण...
    August 18, 06:00 AM
  • बलदाऊ जयंती आज, संतान प्राप्ति के लिए करें ये व्रत
    उज्जैन।भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की षष्ठी को बलदाऊ जयंती का पर्व मनाया जाता है। यह पर्व भगवान श्रीकृष्ण के बड़े भाई श्रीबलराम के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। धर्म शास्त्रों के अनुसार इस दिन भगवान शेषनाग द्वापर युग में भगवान कृष्ण के बड़े भाई बलराम के रूप में अवतरित हुए थे। इस बार यह पर्व 16 अगस्त, शनिवार को है। इस पर्व को हलषष्ठी व हरछठ भी कहते हैं। धर्म शास्त्रों के अनुसार बलराम जी का प्रधान शस्त्र हल व मूसल है। इसी कारण इन्हे हलधर भी कहा गया है। उन्हीं के नाम पर इस पर्व का नाम हलषष्ठी...
    August 16, 06:00 AM
  • गोगा पंचमी आज: गोगादेव की पूजा बचाती है सर्पदंश से
    उज्जैन।भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की पंचमी (इस बार 15 अगस्त, शुक्रवार) को गोगा पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन गोगादेव की पूजा की जाती है। धार्मिक मान्यता है कि गोगादेव सर्पदंश से जीवन की रक्षा करते हैं। इस दिन नाग देवता की पूजा भी की जाती है। इससे जुड़ा महत्वपूर्ण त्योहार चार दिन बाद भाद्रपद कृष्ण पक्ष की नवमी को मनाया जाता है, जो गोगा नवमी के नाम से प्रसिद्ध है। गोगा पंचमी के दिन गोगादेव के साथ ही नाग पर भी दूध चढ़ाया जाता है। गोगादेव की पूजा के लिए साफ दीवार को गेरू से पोतकर दूध में कोयला...
    August 15, 11:44 AM
  • निष्काम कर्म करने की प्रेरणा देती है श्रीमद्भागवतगीता
    उज्जैन।जब महाभारत का युद्ध प्रारंभ होने वाला था। तब अर्जुन ने कौरवों के साथ भीष्म, द्रोणाचार्य, कृपाचार्य आदि श्रेष्ठ महानुभावों को देखकर उनके प्रति स्नेह होने पर युद्ध करने से इंकार कर दिया था। तब भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश दिया था जिसे सुन अर्जुन ने न सिर्फ महाभारत युद्ध में भाग लिया अपितु उसे निर्णायक स्थिति तक पहुंचाया। गीता को आज भी हिंदू धर्म में बड़ा ही पवित्र ग्रंथ माना जाता है। गीता के माध्यम से ही श्रीकृष्ण ने संसार को धर्मानुसार कर्म करने की प्रेरणा दी। वास्तव...
    August 15, 06:00 AM
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें