Home >> Jeevan Mantra >> Dharm >> Utsav
  • आज भी भटक रहा है शिव का ये अवतार, इस किले से जुड़ी है इनकी कहानी
    फोटो- असीरगढ़ का किला उज्जैन। इन दिनों पवित्र श्रावण (सावन) मास चल रहा है। ये महीने भगवान शिव की भक्ति के लिए प्रसिद्ध है। यही उचित समय है भगवान शिव के चरित्र, स्वरूप व अवतारों के बारे में जानने का। धर्म ग्रंथों में भगवान शंकर के अनेक अवतारों का वर्णन भी मिलता है। उनमें से एक अवतार ऐसा भी है, जो आज भी पृथ्वी पर अपनी मुक्ति के लिए भटक रहा है। ये अवतार हैं गुरु द्रोणाचार्य के पुत्र अश्वत्थामा का। द्वापरयुग में जब कौरव व पांडवों में युद्ध हुआ था, तब अश्वत्थामा ने कौरवों का साथ दिया था। महाभारत के...
    July 30, 01:39 PM
  • श्रावण: आज करें शिव-पार्वती का पूजन, जीवन होगा सुखमय
    उज्जैन। श्रावण मास के प्रत्येक दिन भगवान शिव की पूजा का अलग विधान है। इसी प्रकार श्रावण शुक्ल तृतीया तिथि (इस बार 30 जुलाई, बुधवार) को भगवान शिव का पूजन माता पार्वती के साथ करना चाहिए, क्योंकि यह तिथि माता पार्वती को ही समर्पित है। इस दिन शिव-पार्वती की एक साथ पूजा करने से सभी सुखों की प्राप्ति होती है। श्रावण शुक्ल तृतीया के दिन हरियाली तीज का पर्व भी मनाया जाता है। इसे मधुश्रवा तीज भी कहते हैं। ये त्योहार मुख्य रूप से महिला प्रधान होता है। इस पर्व पर महिलाएं एक स्थान पर एकत्रित होकर माता...
    July 30, 06:00 AM
  • हरियाली तीज आज: करें मां पार्वती का पूजन, गाएं सावन के गीत
    उज्जैन। श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को हरियाली तीज का पर्व मनाया जाता है। कुछ स्थानों पर इसे मधुश्रवा तीज भी कहते हैं। इस पर्व को मां पार्वती और शिव के मिलन की याद में मनाया जाता है। इस बार हरियाली तीज का पर्व 30 जुलाई, बुधवार को है। इस दिन महिलाएं मां पार्वती की पूजा करती हैं। नवविवाहिताएं अपने पीहर आकर यह त्योहार मनाती हैं। इस दिन व्रत रखा जाता है तथा विशेष श्रंगार किया जाता है। राजस्थान में महिलाएं लहरिया नामक ओढऩी पहनती हैं। हाथों में मेंहदी लगाती हैं और घर में पकवान बनाए जाते...
    July 30, 06:00 AM
  • नागपंचमी 1 को: जानिए कैसे होता है सांपों का मिलन, कैसे बनाते हैं जोड़ा?
    उज्जैन।सांप एक ऐसा जीव है जो सदियों से मनुष्य के लिए शोध का विषय रहा है। इसके आवास, भोजन, चलने का तरीका, विष आदि विषय के बारे में आसानी से जानकारी मिल जाती है, लेकिन इसके समागम और संतति के बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। नागपंचमी के अवसर पर हम आपको आज सांपों के समागम और संतति के बारे में बता रहे हैं- - सांप जैसे जीवों में जोड़ा बनाना और समागम करना एक नर और मादा सांप के मिलन की घटना मात्र नहीं है बल्कि यह एक अधिक जटिल मामला है, जो कुछ निश्चित विधि-विधानों पर निर्भर होकर सांपों की जनसंख्या संबंधी...
    July 30, 01:00 AM
  • शिव के श्रेष्ठ अवतार हैं हनुमान, न करते ये काम तो नहीं हारता रावण
    उज्जैन। श्रावण के पवित्र महीने में भगवान शिव के विभिन्न अवतारों की कथा सुनने व उनकी पूजा करने से साधक की हर मनोकामना पूरी हो सकती है। आज हम आपको भगवान शिव के सबसे श्रेष्ठ अवतार हनुमान के बारे में बता रहे हैं। शिवपुराण के अनुसार त्रेतायुग में भगवान श्रीराम की सहायता करने और दुष्टों का नाश करने के लिए भगवान शिव ने वानर जाति में हनुमान के रूप में अवतार लिया था। जब भी श्रीराम-लक्ष्मण पर कोई संकट आया, हनुमानजी ने उसे अपनी बुद्धि व पराक्रम से दूर कर दिया। रामायण के उत्तर कांड में स्वयं भगवान...
    July 29, 04:32 PM
  • सांप के मुंह में होते हैं 200 दांत, जानिए सांपों से जुड़े कुछ Amazing Facts
    उज्जैन। हमारे पारिस्थितिक तंत्र में हर प्राणी का एक विशेष महत्व है। सांप भी उन्हीं में से एक है। आमतौर पर सांप को बहुत ही खतरनाक प्राणी माना जाता है और देखते ही मार दिया जाता है। यही कारण है कि सांप की कई विशेष प्रजातियां लुप्त होने की कगार पर हैं। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो सांप मनुष्य का शत्रु नहीं बल्कि मित्र है, क्योंकि ये अनाज को बर्बाद करने वाले चूहों को खाता है। नागपंचमी (इस बार 1 अगस्त, शुक्रवार) के दिन सांप को देवता मानकर पूजन भी किया जाता है। हमारे देश में कई नाग मंदिर भी है, जहां...
    July 29, 11:36 AM
  • भाईचारे और सुख-शांति का त्योहार ईद-उल-फितर आज
    उज्जैन। ईद का त्योहार इस्लामी कैलेंडर के दसवें महीने के पहले दिन मनाया जाता है। ईद मूल रूप से भाईचारे को बढ़ावा देने वाला त्योहार है। इस त्योहार को सभी आपस में मिल के मनाते है और खुदा से सुख-शांति और बरकत के लिए दुआएं मांगते हैं। इस बार ईद 29 जुलाई, मंगलवार को है। एक महीने तक रोजा रखने के बाद ईद मनाई जाती है। रोजा की समाप्ति की खुशी के अलावा इस ईद में अल्लाह का शुक्रिया भी अदा किया जाता है कि उन्होंने महीने भर के उपवास रखने की शक्ति दी। ईद के दिन बढिय़ा खाने के साथ-साथ नए कपड़े भी पहने जाते हैं और...
    July 29, 10:37 AM
  • श्रावण: सोमवार को करें अन्नदान, महादेव हर मुराद करेंगे पूरी
    उज्जैन।सावन मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि (इस बार 28 जुलाई, सोमवार) के स्वामी स्वयं परमपिता ब्रह्मा हैं। इस तिथि को भगवान शंकर के साथ ब्रह्मा की भी पूजा करने से अभीष्ट फल की प्राप्ति होती है। शिव को बिल्व पत्र चढ़ाकर यथा शक्ति अन्न का दान करने से शिव प्रसन्न होते हैं। यह विधि पांच दिन तक करनी चाहिए। जो भी व्यक्ति इस दिन अन्न दान करता है उसकी हर मनोकामना पूरी होती है तथा ब्रह्मलोक प्राप्त होता है। भगवान शिव के निमित्त व्रत भी इस तिथि को रखना चाहिए।
    July 28, 06:00 AM
  • नागपंचमी 1 को: जानिए महत्व व क्यों करते हैं नागों की पूजा?
    उज्जैन। हिंदू धर्म के अनुसार प्रकृति में शामिल प्रत्येक प्राणी, वनस्पति आदि में भगवान का अंश है। हमारे ऋषि-मुनियों ने उनमें धर्म भाव पैदा करने के लिए धर्म से जोड़कर किसी विशेष तिथि, दिवस या अवसर का निर्धारण किया है। इसी क्रम में नाग को देव प्राणी माना गया है। इसलिए श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि (इस बार 1 अगस्त, शुक्रवार) को नागपंचमी का पर्व मनाया जाता है । इस दिन नागों का पूजन किया जाता है। नागपंचमी का यह पर्व यह संदेश देता है कि नाग जाति की उत्पत्ति मानव को हानि पहुंचाने के लिए नहीं हुई...
    July 28, 06:00 AM
  • मोहब्बत और खुशियां बांटने का त्योहार ईद-उल-फितर कल
    उज्जैन।इस्लाम धर्म में पवित्र रमजान के पूरे महीने रोजे अर्थात् उपवास रखने के बादनया चांद देखने के अवसर पर ईद-उल-फितर का त्योहार मनाया जाता है। यहरोजा तोडऩे के त्योहार के रूप में भी लोकप्रिय है। यह त्योहार रमजान के अंत में मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 29 जुलाई, मंगलवार को है। मुस्लिम धर्मावलंबियों के लिए यह अवसर भोज और आनंद का होता है। फितर शब्द अरबी के फतर शब्द से बना। जिसका अर्थ होता है टूटना। इबादत या प्रार्थना, भोजन और मेल-मिलाप इस त्योहार की प्रमुख विशेषता है। इस दिन की रस्मों में सुबह सबसे...
    July 28, 06:00 AM
  • श्रावण शुक्ल प्रतिपदा: आज इस विधि से करें महादेव का पूजन
    उज्जैन। हिंदू पंचांग का पांचवां महीना यानी श्रावण (सावन) पूरी तरह से भगवान शंकर को समर्पित है। इस महीने में की गई शिव पूजा जीवन भर की गई पूजा से भी श्रेष्ठ फल देती है, ऐसा धर्म ग्रंथों में लिखा है। सावन में हर दिन भगवान शिव की विशेष पूजा करने का विधान है।इस प्रकार की गई पूजा से भगवान शिव शीघ्र ही प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों की हर मनोकामना पूरी करते हैं। श्रावण मास की शुक्ल प्रतिपदा (इस बार 27 जुलाई, रविवार) के दिन भगवान शिव की पूजा इस प्रकार करना चाहिए- श्रावण शुक्ल प्रतिपदा धर्म शास्त्रों के...
    July 27, 06:00 AM
  • भगवान शिव के भैरव अवतार ने काटा था ब्रह्मा का पांचवां मुख
    उज्जैन। भैरव को भगवान शंकर का पूर्ण रूप माना गया है। भगवान शंकर के इस अवतार से हमें अवगुणों को त्यागना सीखना चाहिए। भैरव के बारे में प्रचलित है कि ये अति क्रोधी, तामसिक गुणों वाले तथा मदिरा के सेवन करने वाले हैं। इस अवतार का मूल उद्देश्य है कि मनुष्य अपने सारे अवगुण जैसे- मदिरापान, तामसिक भोजन, क्रोधी स्वभाव आदि भैरव को समर्पित कर पूर्णत: धर्ममय आचरण करें। भैरव अवतार हमें यह भी शिक्षा मिलती है कि हर कार्य सोच-विचार कर करना ही ठीक रहता है। बिना विचारे कार्य करने से पद व प्रतिष्ठा धूमिल होती है।...
    July 27, 06:00 AM
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें