जीवन मंत्र
Home >> Jeevan Mantra >> Dharm >> Utsav
  • भाई दूज आज: इस दिन बहन के घर भोजन करने से बढ़ती है भाई की उम्र
    उज्जैन। दीपावली पर्व के पांचवे दिन यानी कार्तिक शुक्ल द्वितीया तिथि को भाई दूज का पर्व मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 25 अक्टूबर, शनिवार को है। यह पर्व भाई-बहन के पवित्र प्रेम का प्रतीक है। मान्यता है कि इस दिन बहन के घर भोजन करने से भाई की उम्र बढ़ती है। इस पर्व का महत्व इस प्रकार है- धर्म ग्रंथों के अनुसार, कार्तिक शुक्ल द्वितीया के दिन ही यमुना ने अपने भाई यम को अपने घर बुलाकर सत्कार करके भोजन कराया था। इसीलिए इस त्योहार को यम द्वितीया के नाम से भी जाना जाता है। तब यमराज ने प्रसन्न होकर उसे यह वर...
    October 25, 12:27 PM
  • शिव को नहीं चढ़ाएं केतकी का फूल, जानिए पूजन से जुड़ी 11 जरूरी बातें
    उज्जैन। देवी-देवताओं का पूजन हिंदू धर्म का अभिन्न अंग है। पूजन के अभाव में हिंदू धर्म की कल्पना भी नहीं की जा सकती। हिंदू धर्म को मानने वाला प्रत्येक व्यक्ति प्रतिदिन किसी न किसी रूप में भगवान का स्मरण अवश्य करता है। हिंदू धर्म ग्रंथों में पूजन के संबंधित बहुत ही बातें बताई गई हैं, लेकिन जानकारी के अभाव में बहुत से लोग ये बातें नहीं जानते। हमारे धर्म ग्रंथों में कुछ विशेष फूल या वस्तु किसी विशेष देवता को अर्पित करना वर्जित माना गया है। पूजन से जुड़ी ऐसी अनेक छोटी-छोटी मगर बहुत महत्वपूर्ण...
    October 25, 12:01 PM
  • जैन नव वर्ष: जानिए किस धर्म में कब मनाया जाता है नया साल
    उज्जैन। दुनिया के अलग-अलग देशों व धर्मों में नया साल अलग-अलग दिन मनाया जाता है। किसी देश या धर्म में नाच-गाकर नए साल का स्वागत किया जाता है तो कहीं पूजा-पाठ व ईश्वर की आराधन कर। नए साल से जुड़ी अनेक मान्यताएं भी प्रचलित हैं। नव वर्ष के स्वगात का तरीका जो भी हो लेकिन मन में भावना एक ही रहती है कि आने वाला साल जीवन में खुशियां लेकर आए। भारत में रहने वाले विभिन्न धर्मों के लोग अलग-अलग समय पर नया साल मनाते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि किस धर्म में नया साल कब मनाया जाता है। जैन नव वर्ष ज़ैन नव वर्ष...
    October 25, 07:44 AM
  • मोहर्रम कल से: उसूलों पर कायम रहना सिखाता है ये पवित्र महीना
    उज्जैन। इस्लाम में रमजान की ही तरह मोहर्रम का महीना भी खुदा की इबादत के लिए बहुत खास माना जाता है। इस्लामी कैलंडर यानी हिजरी संवत में मुहर्रम के महीने से ही साल की शुरुआत होती है। इस बार मोहर्रम माह की शुरुआत 26 अक्टूबर, रविवार से हो रही है। मुस्लिम धर्मावलंबी इस महीने की दस तारीख को हजरत मोहम्मद साहब के नवासे (हजरत फातिमा के बेटे) इमाम हुसैन और उनके साथ शहीद हुए 71 लोगों को कुर्बानी को याद करते हैं। इमाम हुसैन अपने उसूलों के लिए शहीद हुए थे। मोहर्रम का आयोजन उस शहादत की भावना को जगाए रखने का एक...
    October 25, 06:00 AM
  • आज गोवर्धन पूजा : इस विधि से करें पूजन, जानिए शुभ मुहूर्त और कथा
    उज्जैन। कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा यानी दिवाली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा की जाती है। इस बार गोवर्धन पूजा का पर्व 24 अक्टूबर, शुक्रवार को है। जानिए गोवर्धन पूजा की सरल विधि- पूजन विधि गोवर्धन पूजा का पर्व कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को मनाया जाता है। इस दिन सुबह शरीर पर तेल की मालिश करके स्नान करना चाहिए। फिर घर के द्वार पर गोबर से गोवर्धन बनाएं। गोबर का अन्नकूट बनाकर उसके समीप विराजमान श्रीकृष्ण के सम्मुख गाय तथा ग्वाल-बालों, इंद्र, वरुण, अग्नि और बलि का पूजन षोडशोपचार...
    October 24, 01:01 PM
  • दीपावली आजः मां लक्ष्मी की पूजन विधि, शुभ मुहूर्त व आरती का वीडियो
    उज्जैन। कार्तिक कृष्ण अमावस्या के दिन दीपावली (इस बार 23 अक्टूबर, गुरुवार) का पर्व मनाया जाता है। इस दिन भगवती श्रीमहालक्ष्मी एवं भगवान गणेश की नई प्रतिमाओं का प्रतिष्ठापूर्वक विशेष पूजन किया जाता है और अंत में मां लक्ष्मी की आरती की जाती है। जानिए कैसे करें मां लक्ष्मी की आरती- ये भी पढ़ें- (दीपावली पर करें राशि अनुसार ये आसान उपाय, प्रसन्न होंगी महालक्ष्मी) आरती के लिए एक थाली में स्वस्तिक आदि मांगलिक चिह्न बनाकर चावल तथा पुष्पों के आसन पर शुद्ध घी का दीपक जलाएं। एक अलग थाली में कर्पूर रख कर...
    October 23, 07:00 PM
  • क्यों खेलते हैं दिवाली की रात जुआ? जानिए इससे जुड़े कुछ रोचक किस्से
    उज्जैन। हर त्योहार के साथ कोई परंपरा जरूर जुड़ी होती है। इन परंपराओं के कुछ सकारात्मक पक्ष होते हैं वहीं कुछ नकारात्मक भी। दिवाली पर जुआ खेलना भी इस पर्व से जुड़ा एक नकारात्मक पक्ष है। कथा है कि दिवाली के दिन भगवान शिव और पार्वती ने भी जुआ खेला था, तभी से ये प्रथा दिवाली के साथ जुड़ गई है। हालांकि शिव व पार्वती द्वारा दिवाली पर जुआ खेलने का ठोस तथ्य किसी ग्रंथ में नहीं मिलता। जुआ एक ऐसा खेल है जिससे इंसान तो क्या भगवान को भी कई बार भयंकर मुसीबतों का सामना करना पड़ा है। जुआ, सामाजिक बुराई होकर भी...
    October 23, 01:00 AM
  • श्रीराम जब घर लौट रहे थे, दीपावाली पर अयोध्या में क्या हुआ‌?
    दीपावली की पूर्व संध्या पर शहर जगमगा उठा। लग रहा था जैसे भगवान राम के स्वागत में आरती के थाल में चांद-तारे सजाकर खड़ी हो। आगे की स्लाइड पर क्लिक करके जानिए जब श्रीराम अयोध्या पहुंचे तो और क्या हुआ...
    October 23, 12:16 AM
  • श्रीराम जब घर लौट रहे थे, दीपावाली पर अयोध्या में क्या हुआ‌?
    दीपावली की पूर्व संध्या पर शहर जगमगा उठा। लग रहा था जैसे भगवान राम के स्वागत में आरती के थाल में चांद-तारे सजाकर खड़ी हो। आगे की स्लाइड में पढ़ें श्रीराम जब घर लौट रहे थे तो दीपावली, रूप चौदस और धनतेरस पर अयोध्या में और क्या हुआ...
    October 23, 12:07 AM
  • श्रीराम जब घर लौट रहे थे, रूप चौदस पर अयोध्या में क्या हुआ‌?
    पूरे चौदह साल बाद भगवान राम जब वनवास से लौट रहे थे, अयोध्या नगरी में उनके स्वागत की तैयारियां चल रही थीं। रामचरित मानस में वर्णित इन तैयारियों के रूपांतरण का विनम्र प्रयास। 23 अक्टूबर को पढ़ेंश्रीराम जब घर लौट रहे थे, दीपावाली पर अयोध्या में क्या हुआ? आगे की स्लाइड में पढ़ें श्रीराम जब घर लौट रहे थे तो रूप चौदस और धनतेरस पर अयोध्या में और क्या हुआ...
    October 22, 01:51 PM
  • नरक चतुर्दशी आज: ये 14 नाम बोलकर करें यम तर्पण, जानिए शुभ मुहूर्त
    उज्जैन। कार्तिक मास के कृष्ण चतुर्दशी को नरक चतुर्दशी, यम चतुर्दशी व रूप चतुर्दशी कहते हैं। इस बार यह पर्व 22 अक्टूबर, बुधवार को है। इस दिन यमराज की पूजा व व्रत का विधान है। नरक चतुर्दशी से जुड़ी कई कथाएं हमारे धर्म ग्रंथों में मिलती हैं। ये भी पढ़ें- (दीपावली कलः जानिए मां लक्ष्मी की पूजन विधि, आरती व शुभ मुहूर्त ) पूजन विधि इस दिन शरीर पर तिल के तेल की मालिश करके सूर्योदय के पूर्व स्नान करने का विधान है। स्नान के दौरान अपामार्ग (एक प्रकार का पौधा) को शरीर पर स्पर्श करना चाहिए। अपामार्ग को...
    October 22, 12:11 PM
  • अयोध्या पहुंचने से पहले कहां-कहां रुके थे श्रीराम, जानिए वर्तमान स्थिति ?
    उज्जैन। 23, अक्टूबर, गुरुवार को दीपावली का पर्व मनाया जाएगा। दीपावली पर्व से जुड़ी कई कथाएं व किवंदतियां प्रचलित हैं। उनमें से एक कथा ये भी है कि कार्तिक अमावस्या के दिन ही भगवान श्रीराम वनवास पूर्ण कर अयोध्या लौटे थे। उनके आने की खुशी में अयोध्या वासियों ने पूरे नगर में दीप जलाए थे। तभी से दीपावली का पर्व मनाया जा रहा है। आमजन के मन में ये प्रश्न जरूर उठता है कि जब श्रीराम कार्तिक अमावस्या के दिन अयोध्या पहुंचे तो उसके दो दिन पहले वे कहां थे? इस विषय में किसी भी धर्म ग्रंथ में कोई ठोस तथ्य नहीं...
    October 22, 12:04 PM
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें