Home >> Jeevan Mantra >> Dharm >> Gyan
  • मनुस्मृति- बलवान व प्रसन्न रहने के लिए करें ये पांच काम
    उज्जैन। प्राचीन हिन्दू धर्म ग्रंथ मनुस्मृति में इंसान को दोष और बुराइयों से बचकर जीवनभर सुख बटोरने के लिए ऐसे 5 काम या यूं कहें कि सबक उजागर हैं, जो व्यावहारिक जीवन में कोई भी इंसान अपनाकर मनचाहे नतीजे पाने की राह आसान बना सकता है। दरअसल, इंसानी स्वभाव का एक पहलू यह भी है कि वह दूसरों की कमियों को ढूंढता है, मगर दु:खों का कारण बनने वाली अपनी कमजोरियों के बारे में सोचने से बचता रहता है। जबकि जीवन में शुभ और अच्छे फलों के लिए जरूरी है- बेहतर कोशिशें और असफलताओं से सबक लेकर कमियों और दोषों को दूर...
    July 23, 03:02 AM
  • सुखी व शांत रहने के लिए रामायण में है यह खास उपाय
    उज्जैन।आज इंसान पर भौतिक सुखों की चाहत इतनी हावी दिखाई देती है कि वह सही और गलत का फर्क समझकर भी नजरअंदाज कर देता है। यही विवेकहीनता भविष्य में जीवन में अशांति घोल देती है। जबकि सुखी और सफल जीवन बनाने में मात्र धन या सुविधाएं ही अहम नहीं होती, बल्कि वह सारे रिश्ते, भावनाएं व अदृश्य देव कृपा भी महत्व रखती हैं, जिनके बीच या साथ कोई व्यक्ति पनपता और जुड़ा रहता है। हिन्दू धर्म ग्रंथ श्रीरामचरितमानस भी व्यावहारिक ज़िंदगी से जुड़ी 1 ऐसी ही अहम बात, जिसके बगैर किसी भी व्यक्ति का सुख और शांति से जीना...
    July 22, 03:06 AM
  • श्रीकृष्ण की नीतियों में समाए हैं सफलता के ये कारगर सूत्र
    उज्जैन।आजकई लोग चाहे घर हो या कार्यालय में अपनी जीवनशैली, दिनचर्या और वक्त के कुप्रबंधन की वजह से परेशान और तनाव में रहते हैं। ऐसे हालात से निजी जीवन से लेकर नौकरी या कारोबार से जुड़े सभी कामों पर बुरा असर पड़ता है। सही योजना और प्रबंधन की कमी से तमाम जद्दोजहद करने के बाद भी मनचाहे नतीजे नहीं मिल पाते। अनुभव और कुशलता से ऐसे परिणामों से बचा जा सकता है, लेकिन अगर अध्यात्म और धर्म के जरिए सफलता के गुर व कुछ रणनीति सीखना चाहें तो भगवान श्रीकृष्ण के जीवन से कुछ सूत्र सीखे जा सकते हैं। भगवान...
    July 20, 03:28 AM
  • स्त्री को सुख देने वाले ये सूत्र अपनाने से परिवार पर होती है लक्ष्मी कृपा
    उज्जैन। हिन्दू धर्म में किसी भी स्त्री का सम्मान व सेवा अहम जीवन मूल्य बताया गया हैं। धर्म परंपराओं में देवी के कई रूप हो या फिर सांसारिक नजरिए से माता से शुरू होकर बहन सहित स्त्री से अलग-अलग रूपों में रिश्ते, हर इंसान के लिए ताउम्र स्त्री की अहमियत उजागर कर उसकी गरिमा को कायम रखने का जज्बा देते हैं। खास तौर पर गृहस्थी का तो केन्द्र ही स्त्री को माना गया है। देवी-देवताओं के स्मरण जैसे राधा-कृष्ण या सीता-राम में पहले देवी नामों को बोलना भी पुरुष के जीवन में स्त्री के सम्मान और उससे जुड़े किसी भी...
    July 19, 05:47 PM
  • सुखी गृहस्थ जीवन के लिए ध्यान रखें 1 प्राचीन हिन्दू धर्मग्रंथ के ये सूत्र
    उज्जैन।सनातन संस्कृति व दर्शन, जड़ यानी बेजान चीजों या विषय में भी चैतन्यता यानी जीवन को ढूंढ, सकारात्मक सोच के जरिए सही तरीके से जीने के कई सूत्र उजागर करता है। वैदिक काल से ही कई पशु-पक्षियों के किस्से-कहानियों से सराबोर धार्मिक कथा साहित्य के जरिए उजागर व्यावहारिक शिक्षा व नीतियां इसका प्रमाण भी हैं। इसी कड़ी में खासकर हितोपदेश बड़ा रोचक और प्रसिद्ध कथा साहित्य है। इसकी कथाओं के मुख्य चरित्र पशु-पक्षी ही हैं, जिनके जरिए असल में, इंसानों के आचरण व प्रवृत्तियों को उजागर किया गया है। इनमें...
    July 18, 02:43 PM
  • मंदिर में देव प्रतिमा के सामने क्या करें, क्या नहीं? जानें ये जरूरी बातें
    उज्जैन। सनातन धर्म कुदरत के कण-कण में भगवान को देखता है। इसी आस्था से कई देवी-देवताओं की भी पूजा की जाती है। इसलिए हर देवालय मन, विचार व व्यवहार को पवित्र व साधने वाली ऊर्जा देने वाले शक्तिस्थल भी माने जाते हैं। हर देवी-देवता विशेष शक्ति साधना के लिए पूजनीय हैं। देव उपासना से कार्य विशेष को साधने के लिए बुद्धि और विवेक मिलने की आस्था ही भक्त को देवालय तक खींच लाती है। चूंकि देव शक्ति से जुड़ी यही श्रद्धा और आस्था सब कुछ संभव करने वाली मानी गई है। इसलिए यह भी जरूरी है कि देवालय में पहुंच देव...
    July 17, 02:33 PM
  • गरुड़ पुराण- स्त्री हो या पुरुष, इन 6 कामों से जल्द हो जाते हैं वृद्ध
    उज्जैन।स्वस्थ होने पर मन अभावों में भी खुश रह सकता है, लेकिन रोगी देह अपार सुखों में भी दु:ख का कारण बन जाती है। यह भी वजह है कि शास्त्रों में स्वास्थ्य को धन से भी ज्यादा महत्व दिया गया है, क्योंकि खराब सेहत आपकी आर्थिक स्थिति भी बिगाड़ सकती है। इसलिए अच्छी सेहत के लिए सबसे जरूरी है नियमित और सुनियोजित दिनचर्या और जीवनशैली। अनियमित दिनचर्याके रूप में कई दोष आज के भागते-दौड़ते जीवन का हिस्सा बनते जा रहे हैं, जिन्होंने तमाम तरह के रोगों से जीवन को बेबस करने वाली बीमारियों को भी पैदा किया है। इन...
    July 16, 05:17 PM
  • श्रीमद्भगवदगीता- क्या है भूत-प्रेत योनि मिलने का रहस्य, जानिए
    उज्जैन।उपनिषदों का निचोड़ माने गए पावन ग्रंथ श्रीमद्भगवदगीता में समाए जीवन को साधने के कई सूत्रों में से एक सूत्र यह भी मिलता है किअच्छे काम और सोच जीवन के रहते सुख-सुकून व मृत्यु के बाद भी दुर्गति से बचने के लिए बहुत जरूरी हैं। व्यावहारिक तौर पर भी किसी भी मकसद को पूरा करने के लिए सही सोच और उसके मुताबिक काम को अंजाम देने पर ही मनचाहे नतीजे मुमकिन है, अन्यथा सोच और कोशिशों में सही तालमेल न होने पर गलत नतीजे ही सामने आते हैं। मृत्यु के संदर्भ में यही बात सामने रख शास्त्रों की बात पर गौर करें तो...
    July 15, 03:05 PM
  • ऋग्वेद: इस 1 वैदिक सूत्र में है जीवन की कठिन समस्याओं का भी हल
    उज्जैन।सामाजिक जीवन में कई अवसरों पर हमारे आस-पास ही नजर आता है कि कुछ लोग जहां जीवन पर हावी मुश्किलों से उबर ही नहीं पाते, वहीं कुछ अपनी हिम्मत, साहस और मजबूत जज्बे से बुरे वक्त को भी बदलकर अपना बना लेते हैं। हर इंसान के जीवन में ऐसे कई मौके आते हैं, जब वह ऐसे ही दौर से जूझता है, लेकिन हिन्दू धर्मग्रंथ वेद-पुराण यही सिखाते हैं कि जीवन को लेकर सही और सकारात्मक सोच रखी जाए तो हर मुश्किलों से पार पाना संभव है। प्राचीन हिन्दू धर्मग्रंथों में ऐसे ही अनमोल सूत्रों को बताया गया है, जिनसे किसी भी अशांत,...
    July 15, 01:45 PM
  • स्वस्थ व ऊर्जावान रहने के लिए जानिए संत कबीर के बताए 2 गुरु मंत्र
    उज्जैन। मन को साधने पर जीवन सही दिशा में चलने लगता है। चंचल स्वभाव के मन पर संयम और अनुशासन से ऐसा संभव हो पाता है, लेकिन रस, रूप, गंध और कई सुखों से भरे जीवन में मन पर काबू करना तप के समान माना गया है। दरअसल, हर इंसान दूसरों से तो साफ मन की उम्मीद रखता है, लेकिन स्वयं ऐसा करने में पूरी तरह संकल्पित नहीं हो पाता। क्योंकि व्यवहार और स्वभाव से जुड़े कुछ दोष मन पर इतने हावी हो जाते हैं कि मन की पावनता कहीं खो जाती है। इससे न केवल रिश्तों और संबंधों में कलह घुलता है, बल्कि इंसान व्यक्तिगत रूप से भी अशांत और...
    July 12, 03:00 AM
  • दुर्भाग्य को बुलावा है मृत्यु से जुड़ी इन 5 बातों की अनदेखी
    उज्जैन।हर इंसान जानता है कि मृत्यु एक अटल सच्चाई है और अहंकार ऐसी बुराई, जो आखिरकार बर्बादी ही नहीं, बल्कि मृत्यु की वजह भी बन सकती है। इसके बावजूद स्वार्थ, चाहत या फायदे के लिए कई लोग मौत की सच्चाई को अनदेखा करते हैं व दंभ को सिर पर चढ़ाकर ज़िंदगी गुजारते हैं। जबकि शास्त्रों में अहं व उससे पैदा होने वाले दोषों से दूरी बनाने के लिए मृत्यु को याद रखना भी बेहतर तरीका बताया गया है।हिन्दू पौराणिक मान्यताओं में दो अलग-अलग युगों में रावण व कंस भी ऐसे चरित्र हैं, जो अहंकार के मद में चूर होने से मिली...
    July 11, 03:00 AM
  • वाल्मीकि रामायण- गुरु से मिलती हैं भाग्योदय करने वाली ये 3 शक्तियां
    उज्जैन।धर्मग्रंथों की बातें अच्छे गुण और काम को ज़िंदगी में अपनाने की सीख देती हैं। इस पर अगर गुरु का आशीर्वाद मिल जाए तो फिर मुश्किल से मुश्किल लक्ष्यों को पाना भी आसान हो जाता है। शास्त्रों में गुरु की महिमा और स्थान सर्वोपरि बताया गया है। मोक्षमूलं गुरुकृपा शास्त्रों की यह बात उजागर करती है कि गुरु कृपा मुक्ति तक देने वाली सिद्ध होती है। वहीं, शास्त्रों में ही यह भी बताया गया है कलियुग में पाप कर्मों का बोलबाला होगा। आज के दौर में फैली व्यक्तिगत और सामाजिक अशांति और कलह इस बात को साबित भी...
    July 10, 08:41 PM
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 

रोचक खबरें

विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें