जीवन मंत्र
  • गुरुवार को साईं बाबा की आराधना का विशेष महत्व क्यों हैं?
    साईं बाबा को हर धर्म के लोग बड़ी श्रद्धा से पूजते हैं। सभी जाति और धर्म इनके प्रति पूर्ण विश्वास रखते हैं। इनकी आराधना किसी भी विशेष मुहूर्त या वार को कर सकते है, लेकिन गुरुवार को इनकी पूजा का विशेष महत्व माना गया है। गुरुवार को इनकी आराधना का इतना महत्व क्यों हैं? इस संबंध में यही तथ्य है कि गुरुवार गुरु का दिन माना जाता है। सभी धर्मों में गुरु का खास स्थान माना जाता है, गुरु ही हमें आदर्श जीवन जीने के सूत्र बताता है। गुरु ही सही राह पर चलने की प्रेरणा देता है। साईं बाबा ने हमेशा सभी को आदर्श...
    January 6, 04:14[IST]
  • पूजा-पाठ में दीपक क्यों जलाया जाता है?
    भारतीय संस्कृति में हर धार्मिक, सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम में दीपक जलाने की परंपरा है। ऐसी मान्यता है कि अग्नि देव को साक्षी मानकर उसकी मौजूदगी में किए काम जरूर सफल होते हैं। हमारे शरीर की रचना में सहायक पांच तत्वों में से अग्नि भी एक है। दूसरा अग्नि पृथ्वी पर सूर्य का बदला हुआ रूप है। इसलिए किसी भी देवी- देवता के पूजन के समय ऊर्जा को केंद्रीभूत करने के लिए दीपक प्रज्वलित किया जाता है। दीपक का जो असाधाण महत्व बताया गया है, उसके पीछे मान्यता यह है कि प्रकाश ज्ञान का प्रतीक है। परमात्मा...
    September 3, 03:15[IST]
  • भगवान के चरणामृत क्यों लेना चाहिए?
    मंदिरों में रोजाना सुबह और शाम आरती के बाद भगवान का चरणामृत दिया जाता है। चरणामृत का पानी हमेशा तांबे के बर्तन में रखने का विधान है, क्योंकि आयुर्वेदिक मतानुसार तांबे में बहुत सारी बीमारियों को खत्म करने की ताकत होती है। इसका पानी स्मरण शक्ति को बढ़ाता है। इसमें तुलसी डालने के पीछे यह मान्यता है कि तुलसी का पत्ता महाऔषधि है। इसमें न केवल बीमारियों को खत्म करने के गुण होते हैं, बल्कि कीटाणुओं को मारने की शक्ति भी होती है। जिन्हें भगवान मे पूरी श्रृद्धा और विश्वास होता है। उनके लिए इस पानी का...
    August 12, 03:09[IST]
  • सावनः इन स्तुति, स्त्रोत व आरती से प्रसन्न हो जाते हैं भगवान शिव
    भगवान शिव की भक्ति का महीना सावन कल (1 अगस्त, शनिवार) से शुरू हो चुका है। धर्म ग्रंथों के अनुसार, ये महीना भगवान शिव को बहुत प्रिय है। इस महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए भक्त कई उपाय करते हैं। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए अनेक मंत्र, स्तुति व स्रोतों की रचना की गई है। इनके जाप व गान से भगवान शिव अति प्रसन्न होते हैं। सावन में रोज इन स्तुति व स्रोतों का पाठ करने से सभी समस्याओं का अंत भी हो जाता है। सावन के पवित्र महीने में हम आपको कुछ प्रमुख शिव स्तुति व स्रोतों के बारे में बता रहे हैं,...
    August 2, 05:52[IST]
  • इस तरह करें प्रार्थना तो हर परेशानी दूर करेंगे भगवान
    हर इंसान जीवन में कभी ना कभी भगवान से प्रार्थना जरूर करता है। ऐसा अक्सर तब होता है जब वह किसी मुसीबत में फंसा होता है। कई लोग ये भी कहते हैं कि वे प्रार्थना तो बहुत करते हैं, लेकिन भगवान सुनता ही नहीं। दरअसल हम जब भी प्रार्थना करते हैं तो उसमें वो भाव नहीं होता जो भगवान को चाहिए। प्रार्थना में सिर्फ आपकी भावनाएं ऐसी होनी चाहिए जो सीधे भगवान के मन को छू सके। भक्ति देखकर आना पड़ा भगवान को श्रीमद्भागवत में भक्त ध्रुव की कथा आती है। उसके अनुसार ध्रुव के पिता की दो पत्नियां थीं। पिता को अपनी दूसरी...
    March 3, 12:10[IST]
  • श्री महालक्ष्मी स्तोत्र
    श्री महालक्ष्मी स्तोत्र पद्मे पद्मपलाशाक्षि जय त्वं श्रीपतिप्रिये । जयमातर्महालक्ष्मि संसारार्णवतारिणि ॥1॥ महालक्ष्मि नमस्तुभ्यं नमस्तुभ्यं सुरेश्वरि । हरिप्रिये नमस्तुभ्यं नमस्तुभ्यं दयानिधे ॥2॥ पद्मालये नमस्तुभ्यं नमस्तुभ्यं च सर्वदे । सर्वभूताहितार्थाय वसुवृष्टिं सदा कुरु ॥3॥ जगन्मातर्नमस्तुभ्यं नमस्तुभ्यं दयानिधे । दयावति नमस्तुभ्यं विश्वेश्वरि नमोऽस्तुते ॥4॥ नमः क्षीरार्णवसुते नमस्त्रैलोक्यधारिणि । वसुवृष्टे नमस्तुभ्यं रक्ष मां शरणागतम् ॥5॥ रक्ष...
    February 20, 12:05[IST]
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 

रोचक खबरें

 
विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 

स्पोर्ट्स

 

बिज़नेस

 

जोक्स

 

पसंदीदा खबरें

 

फोटो फीचर