• भाईचारे और सुख-शांति का त्योहार ईद-उल-फितर आज
    उज्जैन। ईद का त्योहार इस्लामी कैलेंडर के दसवें महीने के पहले दिन मनाया जाता है। ईद मूल रूप से भाईचारे को बढ़ावा देने वाला त्योहार है। इस त्योहार को सभी आपस में मिल के मनाते है और खुदा से सुख-शांति और बरकत के लिए दुआएं मांगते हैं। इस बार ईद 29 जुलाई, मंगलवार को है। एक महीने तक रोजा रखने के बाद ईद मनाई जाती है। रोजा की समाप्ति की खुशी के अलावा इस ईद में अल्लाह का शुक्रिया भी अदा किया जाता है कि उन्होंने महीने भर के उपवास रखने की शक्ति दी। ईद के दिन बढिय़ा खाने के साथ-साथ नए कपड़े भी पहने जाते हैं और...
    July 29, 10:37[IST]
  • सुख व शांति के लिए हर पुरुष व स्त्री को करना चाहिए ये 8 शास्त्रोक्त कर्म
    उज्जैन। शास्त्रों के मुताबिक पाप इंसान के दु:ख और पतन का कारण तो पुण्य सुख और तरक्की का कारण होते हैं। किंतु जीवन की भागदौड़ भी पाप या पुण्य कर्मों पर गहराई से विचार का वक्त नहीं देती। यही वजह है कि सुख या दु:ख और होनी-अनहोनी का सामना इंसान को करना ही पड़ता है। इनके बावजूद हर इंसान के अंदर अच्छाई व भलाई से जुड़ने का भाव कहीं न कहीं मौजूद रहता है। शास्त्रों में मन, वचन और कर्म से जुड़े कई पाप-पुण्य बताए गए हैं, जिनकी गहरी जानकारी हर इंसान को नहीं होती। इसलिए यहां बताई जा रही है शास्त्रों में उजागर...
    July 25, 03:05[IST]
  • सुखी व शांत रहने के लिए रामायण में है यह खास उपाय
    उज्जैन।आज इंसान पर भौतिक सुखों की चाहत इतनी हावी दिखाई देती है कि वह सही और गलत का फर्क समझकर भी नजरअंदाज कर देता है। यही विवेकहीनता भविष्य में जीवन में अशांति घोल देती है। जबकि सुखी और सफल जीवन बनाने में मात्र धन या सुविधाएं ही अहम नहीं होती, बल्कि वह सारे रिश्ते, भावनाएं व अदृश्य देव कृपा भी महत्व रखती हैं, जिनके बीच या साथ कोई व्यक्ति पनपता और जुड़ा रहता है। हिन्दू धर्म ग्रंथ श्रीरामचरितमानस भी व्यावहारिक ज़िंदगी से जुड़ी 1 ऐसी ही अहम बात, जिसके बगैर किसी भी व्यक्ति का सुख और शांति से जीना...
    July 22, 03:06[IST]
  • सोमवार विशेष- शिवपुराण में हैं खुशहाली बढ़ाने वाले बिल्वपत्र के ये उपाय
    उज्जैन।वेद, प्रकृति रूप ईश्वर की अपार महिमा व शक्तियां उजागर करते हैं। धर्मग्रंथों में वेद भगवाव शिव का स्वरूप भी पुकारे गए हैं। यानी प्रकृति का कण-कण शिव रूप ही माना गया है। इसी कड़ी में बिल्व वृक्ष साक्षात शिव का ही रूप माना गया है। शिवपुराण में तो बिल्ववृक्ष की जड़ में सभी तीर्थस्थान माने गए हैं। इसलिए बिल्ववृक्ष की पूजा शिव उपासना ही मानकर कई देवताओं की पूजा का पुण्य देने वाली मानी गई है। खास तौर पर हिन्दू धर्म परंपराओं में श्रावण यानी सावन महीने में भगवान शिव की उपासना की शुभ घड़ी में...
    July 20, 03:00[IST]
  • जीवन में इस 1 उपाय के बिना नहीं मिल पाती है शांति
    उज्जैन। सच का दायरा बोल तक खत्म नहीं होता, बल्कि उसका महत्व तभी है, जब बोल को कर्म में उतार दिया जाए। अगर हम झूठ के सहारे चलते हैं तो कभी भी भीतर से शांत नहीं रह सकते यानी शांति के लिए सत्य जरूरी है। सारे हिन्दू धर्मग्रंथों की जीवन से जुड़ी सीखों के सार में सुख-शांति व धर्म का पालन के लिए जीवन में सत्य को उतारने का ही संदेश समाया हैं। अक्सर हम परिवार, दोस्तों और सहकर्मियों के साथ होने पर कई बार यह सुनते और कहते हैं कि कथनी और करनी में अंतर नहीं होना चाहिए। जबकि इस बात का व्यावहारिक पक्ष देखने पर यह...
    July 2, 07:11[IST]
  • सरसों के तेल का यह खास उपाय करने से घर में बढ़ती है खुशहाली
    उज्जैन। हिन्दू धर्म परंपराओं में शनिवार का दिन धर्म के नजरिए से बड़ा ही शुभ है। दरअसल, यह दिन खासतौर पर सच व न्याय को मन, कर्म व वचन में उतारने के संकल्पों की प्रेरणा देता है। क्योंकि यह दण्डाधिकारी शनिदेव की उपासना का शुभ काल है। सही मायनों में ऐसे ही संकल्प दु:ख और कष्टों से छुटकारा देने व हित करने वाले होते हैं। चाहे फिर ये शनिदेव के लिए आस्था से या फिर उनके दण्ड के भय से ही क्यों न लिए जाएं। भाग्यविधाता शनि के लिए धर्म आस्था यह भी है कि शनि कृपा से कोई भी इंसान किस्मत का धनी बन सकता है और विपरीत...
    May 30, 03:42[IST]
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 
 
 
 
 
 

रोचक खबरें

 
 
 
 
 
 
विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 
 
 
 
 
 

स्पोर्ट्स

 
 
 
 
 
 

बिज़नेस

 
 
 
 
 
 

जोक्स

 
 
 
 
 
 

पसंदीदा खबरें

 
 
 
 
 
 

फोटो फीचर