• शादी में आ रही हो बाधाएं तो करें ये आसान उपाय
    उज्जैन। चाहे लड़का हो या लड़की विवाह में विलंब हर माता-पिता के लिए चिंता का विषय होता है। कुंडली में गुरु बली न हो या गुरु सप्तम भाव में हो या जातक को मंगल या शनि हो तो विवाह में देरी होती है। यदि आपके विवाह में भी विलंब हो रहा है यदि हां तो अपनाएं नीचे लिखे आसान ज्योतिषीय उपाय विवाह में आ रही सारी बाधाएं दूर हो जाती हैं। - किसी भी माह की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को चावल की खीर बनाएं। चंद्रोदय के समय चंद्रमा को तुलसी की पत्ती डालकर यह नेवैद्य बताएं व प्रदक्षिणा करें। इस प्रकार यह नियम 45 दिनों तक करें।...
    July 26, 04:19[IST]
  • भड़ली नवमी आज, ये है विवाह का अबूझ मुहूर्त
    उज्जैन।आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को भड़ली या भडल्या नवमी कहते हैं। इस वर्ष भड़ली नवमी 6 जुलाई, रविवार को है। इस दिन गुप्त नवरात्रि का समापन भी होता है। उत्तर भारत में इस तिथि को विवाह के लिए अबूझ मुहूर्त माना जाता है। हिंदू धर्म में कुछ विवाह के लिए कुछ अबूझ मुहूर्त बताए गए हैं, भड़ली नवमी भी उन्हीं में से एक है। भड़ली नवमी का पर्व विशेष तौर पर उत्तर भारत में मनाया जाता है। भारत के अन्य हिस्सों में इसे दूसरों रूपों में मनाया जाता है। इस दिन को विवाह आदि शुभ कार्यों के लिए अबूझ मुहूर्त...
    July 6, 06:00[IST]
  • गुप्त नवरात्रि विशेष: ये हैं पैसा, नौकरी, विवाह, प्रमोशन के उपाय
    उज्जैन।आषाढ़ मास की शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तिथि तक गुप्त नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस बार आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि का प्रारंभ 28 जून, शनिवार से हो चुका है, जिसका समापन 6 जुलाई, रविवार को होगा। गुप्त नवरात्रि में वामाचार पद्धति से उपासना की जाती है। यह समय शाक्य एवं शैव धर्मावलंबियों के लिए पैशाचिक, वामाचारी क्रियाओं के लिए अधिक शुभ एवं उपयुक्त होता है। इसमें प्रलय एवं संहार के देवता महाकाल एवं महाकाली की पूजा की जाती है। गुप्त नवरात्रि में मनचाही सफलता के लिए विशेष उपाय भी किए जाते...
    July 1, 01:00[IST]
  • जानिए शादी से पहले कुंडली मिलान क्यों करना चाहिए
    उज्जैन। आज आधुनिक युग में भी काफी लोग विवाह से पहले कुंडली मिलान अवश्य करते हैं। कुंडली मिलान से व्यक्ति के जीवन से जुड़ी सभी खास बातें मालूम की जा सकती हैं। इसी वजह से विवाह से पूर्व कुंडली का मिलान अनिवार्य रूप से किया जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति की कुंडली में ग्रहों की स्थिति और विशेष योगों का प्रभाव व्यक्ति पर जीवनभर रहता है। अत: विवाह से पहले वर-वधू की कुंडली का सही-सही अध्ययन किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी से करवा लेना चाहिए। लड़के की कुंडली में देखी जाती हैं ये बातें कुंडली...
    June 20, 12:05[IST]
  • पैसा, तंगी या विवाह बाधा से हैं त्रस्त, बोलें ये 3 संकटमोचक मंगल मंत्र
    उज्जैन। हिन्दू धर्म शास्त्रों में मंगल ग्रह नवग्रहों का सेनापति बताया गया है। यही नहीं, पौराणिक मान्यता है कि मंगल शिव के तेज से उत्पन्न हुए और उनका पालन-पोषण पृथ्वी ने किया। इसलिए वह भूमिपुत्र भी पुकारे जाते हैं। ज्योतिष शास्त्रों में हालांकि मंगल क्रूर ग्रह माना जाता है, किंतु शिव अंश होने से मंगल के शुभ होने पर सांसारिक सुखों मिलते हैं, किंतु अशुभ होने पर संतान, भूमि, धन, विवाह, पुत्र, विद्या, रोग आदि से जुड़ी पीड़ाओं का सामना भी करना पड़ा सकता है। मंगल दोष शांति के लिए ही मंगलवार या शिव या...
    June 3, 03:00[IST]
  • शादी के तुरंत बाद पति-पत्नी के लिए जरूरी हैं ये चार काम भी
    उज्जैन। स्त्री और पुरुष, दोनों के जीवन में विवाह एक महत्वपूर्ण पड़ाव होता है। इसी वजह से शादी को लेकर खासा उत्साह सदैव बना रहता है। विशेष रूप से सुहागरात के संबंध में स्त्री और पुरुष, दोनों के मन कई प्रकार के प्रश्न और उत्सुकताएं बनी रहती हैं। वैवाहिक जीवन की शुरुआत में सुहागरात का सर्वाधिक महत्व है। इसी रात से पति-पत्नी के रिश्तों को नए आयाम मिलते हैं। साथ ही, इस दौरान काफी हद तक यह भी निश्चित हो जाता है कि वैवाहिक जीवन भविष्य में कैसा रहेगा। विवाह से पूर्व ही स्त्री और पुरुष, दोनों के मन में...
    June 1, 03:37[IST]
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 
 
 
 
 
 

रोचक खबरें

 
 
 
 
 
 
विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 
 
 
 
 
 

स्पोर्ट्स

 
 
 
 
 
 

बिज़नेस

 
 
 
 
 
 

जोक्स

 
 
 
 
 
 

पसंदीदा खबरें

 
 
 
 
 
 

फोटो फीचर