• यमराज ने सावित्री को बताया था किस समय क्या करने से बनते हैं भाग्यशाली
    (यमराज का प्रतिकात्म चित्र) उज्जैन। सत्यवान और सावित्री की कहानी बहुत प्रचलित है। सत्यवान विवाह के बाद मृत्यु को प्राप्त हुआ तो सावित्री ने यमराज से पुन: अपने पति का जीवन वरदान के रूप में प्राप्त कर लिया था। इसी वजह से सावित्री को श्रेष्ठ पतिव्रता स्त्रियों में से एक माना गया है। इस दौरान सावित्री ने यमराज से जीवन और कर्मों के संबंध में कई प्रश्न पूछे और यमराज ने सभी प्रश्नों के जवाब भी दिए। यमराज द्वारा सावित्री को बताया गया था कि किस प्रकार कोई इंसान अपने कर्मों से भाग्यशाली बन सकता है और...
    August 13, 12:34[IST]
  • आज के युवा इन कारणों से नहीं कर पाते हैं ठीक से काम
    उज्जैन। कई लोग रात को ये सोचकर सोते हैं कि कल सुबह से जीवन बदल लूंगा और अपने भविष्य का निर्माण करूंगा, लेकिन सुबह होते ही सारे संकल्प ढेर हो जाते हैं। असफलता और अशांति, ये दो बातें वो हैं जिनसे सभी दूर रहना चाहते हैं, लेकिन अधिकतर लोगों के हिस्से में ये ही आती हैं। आज लोग दूसरों से उतने परेशान नहीं हैं, जितने खुद से हैं। बार-बार संकल्प और विचारों के बाद भी काम नहीं कर पाना, ये आज के युवा की आम समस्या है। इसके पीछे एक ही कारण है जिसका नाम है मन। हमारा मन हम पर इतना हावी हो चुका है कि वो जो चाहता है करा...
    August 12, 12:05[IST]
  • घर के मंदिर में ध्यान रखें इन दस बातों का, मिलेगी महालक्ष्मी की कृपा
    उज्जैन।अधिकांश घरों में देवी-देवताओं के लिए एक अलग स्थान होता है, कुछ घरों में छोटे-छोटे मंदिर बनवाए जाते हैं। यदि नियमित रूप से घर के मंदिर में पूजन किया जाए तो शुभ फल अवश्य प्राप्त होते हैं। वातावरण पवित्र बना रहता है, जिससे महालक्ष्मी सहित सभी दैवीय शक्तियां घर पर अपनी कृपा बरसाती हैं। यहां कुछ ऐसी बातें बताई जा रही हैं जो घर के मंदिर ध्यान रखनी चाहिए। यदि इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखा जाता है तो पूजन का श्रेष्ठ फल जल्दी प्राप्त होता है और लक्ष्मी की कृपा से घर में धन-धान्य की कमी नहीं होती...
    August 11, 12:55[IST]
  • मोहब्बत और खुशियां बांटने का त्योहार ईद-उल-फितर कल
    उज्जैन।इस्लाम धर्म में पवित्र रमजान के पूरे महीने रोजे अर्थात् उपवास रखने के बादनया चांद देखने के अवसर पर ईद-उल-फितर का त्योहार मनाया जाता है। यहरोजा तोडऩे के त्योहार के रूप में भी लोकप्रिय है। यह त्योहार रमजान के अंत में मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 29 जुलाई, मंगलवार को है। मुस्लिम धर्मावलंबियों के लिए यह अवसर भोज और आनंद का होता है। फितर शब्द अरबी के फतर शब्द से बना। जिसका अर्थ होता है टूटना। इबादत या प्रार्थना, भोजन और मेल-मिलाप इस त्योहार की प्रमुख विशेषता है। इस दिन की रस्मों में सुबह सबसे...
    July 28, 06:00[IST]
  • सुख व शांति के लिए हर पुरुष व स्त्री को करना चाहिए ये 8 शास्त्रोक्त कर्म
    उज्जैन। शास्त्रों के मुताबिक पाप इंसान के दु:ख और पतन का कारण तो पुण्य सुख और तरक्की का कारण होते हैं। किंतु जीवन की भागदौड़ भी पाप या पुण्य कर्मों पर गहराई से विचार का वक्त नहीं देती। यही वजह है कि सुख या दु:ख और होनी-अनहोनी का सामना इंसान को करना ही पड़ता है। इनके बावजूद हर इंसान के अंदर अच्छाई व भलाई से जुड़ने का भाव कहीं न कहीं मौजूद रहता है। शास्त्रों में मन, वचन और कर्म से जुड़े कई पाप-पुण्य बताए गए हैं, जिनकी गहरी जानकारी हर इंसान को नहीं होती। इसलिए यहां बताई जा रही है शास्त्रों में उजागर...
    July 25, 03:05[IST]
  • सुखी व शांत रहने के लिए रामायण में है यह खास उपाय
    उज्जैन।आज इंसान पर भौतिक सुखों की चाहत इतनी हावी दिखाई देती है कि वह सही और गलत का फर्क समझकर भी नजरअंदाज कर देता है। यही विवेकहीनता भविष्य में जीवन में अशांति घोल देती है। जबकि सुखी और सफल जीवन बनाने में मात्र धन या सुविधाएं ही अहम नहीं होती, बल्कि वह सारे रिश्ते, भावनाएं व अदृश्य देव कृपा भी महत्व रखती हैं, जिनके बीच या साथ कोई व्यक्ति पनपता और जुड़ा रहता है। हिन्दू धर्म ग्रंथ श्रीरामचरितमानस भी व्यावहारिक ज़िंदगी से जुड़ी 1 ऐसी ही अहम बात, जिसके बगैर किसी भी व्यक्ति का सुख और शांति से जीना...
    July 22, 03:06[IST]
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 
 
 
 
 
 

रोचक खबरें

 
 
 
 
 
 
विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 
 
 
 
 
 

स्पोर्ट्स

 
 
 
 
 
 

बिज़नेस

 
 
 
 
 
 

जोक्स

 
 
 
 
 
 

पसंदीदा खबरें

 
 
 
 
 
 

फोटो फीचर