• इन 2 मंत्रों का चमत्कारी प्रभाव बनाता है बुद्धिमान व सफल
    उज्जैन। किसी भी काम में कुशल या विशेषज्ञ बनना तभी संभव है, जब अभ्यास के साथ-साथ उससे संबंधित भरपूर जानकारी रखी जाए। इसे धर्म की भाषा में विद्या या ज्ञान भी कहा जाता है। व्यवहारिक तौर परऐसे लोग ही पारंगत या माहिर माने जाते हैं, जो असंभव दिखते काम को भी चुटकियों में संभव बना दे। धार्मिक दृष्टि से ऐसे गुण, ज्ञान, कला और बुद्धि माता सरस्वती की कृपा से मिलती है, क्योंकि माता सरस्वती को विद्या, ज्ञान, संगीत व वाणी की देवी माना जाता है। इसलिए मानसिक शक्ति और बुद्धि से कामयाबी की चाहत रखने वालों के लिए हर...
    April 19, 05:38[IST]
  • रोज यह लक्ष्मी पूजा उपाय तंगी ही नहीं, सारे संकट रखता है दूर
    उज्जैन। ज़िंदगी में कई मौके ऐसे आते हैं जब पैसा आ जाए, पर किसी न किसी परेशानी की वजह से टिक न पाएं तो व्यक्ति बेचैन हो जाता है, क्योंकि स्वाभिमान और सम्मान के साथ संकटमुक्त जीवन बिताने व दायित्वों को पूरा करने के लिए ज्यादा से ज्यादा धन कमाना भी हर इंसान के लिए जरूरी है। ऐसी ही स्थितियों में अथक कोशिशें ही जीवन की सफलता या असफलता तय करती है। धार्मिक उपायों के जरिए धन के प्रबंधन के साथ संकटमोचन की चाहत से ही धन की देवी लक्ष्मी की प्रसन्नता के लिए कुछ सरल और छोटे उपाय वर्तमान में चल रहे विष्णु भक्ति...
    April 18, 07:41[IST]
  • महालक्ष्मी को प्रसन्न कर धनवान बना देते हैं ये 2 अचूक मंत्र
    उज्जैन। हर इंसान जीवन में धन और वैभव के रूप में लक्ष्मी की प्रसन्नता की चाहत रखता है, लेकिन ऐसे लोग कम ही होते हैं, जो लक्ष्मी कृपा के लिए बेहद जरूरी 2 बातों को कर्म, व्यवहार और स्वभाव में उतारते हैं। ये बातें हैं- पवित्रता और परिश्रम। यह भी वजह है कि रोजमर्रा की ज़िदगी में यह नजर आता है कि सच्चाई व मेहनत के बिना पाए भरपूर धन के बावजूद कई लोग मानसिक तौर पर अशांत रहते हैं, तो वहीं कुछ लोग धन के अभाव में सुकून से जीवन नहीं गुजार पाते। सुख व ऐश्वर्य की देवी माता लक्ष्मी से जुड़ी शास्त्रों में लिखी बातों...
    April 11, 07:52[IST]
  • ये 2 सूर्य मंत्र स्तोत्र जगा देते हैं सोया भाग्य, लक्ष्मी भी होती हैं प्रसन्न
    उज्जैन। हर इंसान सफल व खुशहाल ज़िंदगी के लिए कई लक्ष्य बनाता है और हर दिन उनके मुताबिक जीवन को ढालने की कवायद करता है। सांसारिक जीवन के ये सारे मकसद धर्मशास्त्रों में नियत जीवन के 4 अहम लक्ष्यों में समाए हैं। ये चार लक्ष्य धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष के रूप में जाने जाते हैं। इन्हें 4 पुरुषार्थ भी पुकारा गया है। जीवन में पुरुषार्थ रूपी इन चारों ही लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए शास्त्रों में सिलसिलेवार वक्त व कायदे नियत हैं, इसलिए सांसारिक नजरिए से पहले 2 पुरुषार्थ यानी धर्म व अर्थ, बाद के 2 पुरुषार्थों को...
    April 8, 05:40[IST]
  • जानिए एक श्लोकी दुर्गासप्तशती व किन बातों का ध्यान रख करें दुर्गासप्तशती पाठ
    उज्जैन। नवरात्रि आद्यशक्ति दुर्गा के स्मरण से मनचाही सिद्धि का अचूक काल है। इसमें देवी शक्ति की उपासना के लिए खासकर दुर्गासप्तशती का पाठ कर महाकाली, महालक्ष्मी और महासरस्वती की कृपा से शक्ति, समृद्धि और ज्ञान पाकर जीवन को सफल बनाने की कामना की जाती है। शास्त्रों के मुताबिक देव उपासना दोषरहित होने पर शीघ्र और मनचाहा फल देती है, इसलिए देव दोष से बचने के लिए दुर्गासप्तशती का पाठ किसी विद्वान और गुणी ब्राह्मण से धार्मिक विधि-विधान के साथ कराएं या जरूरी जानकरी लेकर स्वयं करे। अगर देवी भक्त...
    April 7, 04:00[IST]
  • कल बोलें यह विघ्ननाशक देवी मंत्र, रुके काम पूरे हो जाएंगे
    उज्जैन। सांसारिक नजरिए से जीवन की सफलता तमाम, ज्ञान, गुण व शक्तियां बंटोरकर हर जरूरतों व जिम्मेदारियों को पूरी करने में ही है। मोटे तौर पर शरीर, धन व मन के स्तर पर सबलता, सफल व यशस्वी बनाने में अहम माने जाते हैं। ऐसी ही शक्ति संपन्नता से नवरात्रि में देवी के विशेष स्वरूपों से मुरादें की जाती हैं। इसी कड़ी में नवरात्रि की अंतिम दो रातों यानी महाष्टमी व महानवमी (8 व 9 अप्रैल) को देवी की की भक्ति का विशेष महत्व है। इन कालों में देवी भक्ति न केवल मनोवांछित, बल्कि शीघ्र ही शुभ फल देने वाली मानी गई है।...
    April 6, 04:50[IST]
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

रोचक खबरें

 
 
 
 
 
 
 
 
 
विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

स्पोर्ट्स

 
 
 
 
 
 
 
 
 

बिज़नेस

 
 
 
 
 
 
 
 
 

जोक्स

 
 
 
 
 
 
 
 
 

पसंदीदा खबरें

 
 
 
 
 
 
 
 
 

फोटो फीचर