• स्त्री को सुख देने वाले ये सूत्र अपनाने से परिवार पर होती है लक्ष्मी कृपा
    उज्जैन। हिन्दू धर्म में किसी भी स्त्री का सम्मान व सेवा अहम जीवन मूल्य बताया गया हैं। धर्म परंपराओं में देवी के कई रूप हो या फिर सांसारिक नजरिए से माता से शुरू होकर बहन सहित स्त्री से अलग-अलग रूपों में रिश्ते, हर इंसान के लिए ताउम्र स्त्री की अहमियत उजागर कर उसकी गरिमा को कायम रखने का जज्बा देते हैं। खास तौर पर गृहस्थी का तो केन्द्र ही स्त्री को माना गया है। देवी-देवताओं के स्मरण जैसे राधा-कृष्ण या सीता-राम में पहले देवी नामों को बोलना भी पुरुष के जीवन में स्त्री के सम्मान और उससे जुड़े किसी भी...
    July 19, 05:47[IST]
  • मंदिर में देव प्रतिमा के सामने क्या करें, क्या नहीं? जानें ये जरूरी बातें
    उज्जैन। सनातन धर्म कुदरत के कण-कण में भगवान को देखता है। इसी आस्था से कई देवी-देवताओं की भी पूजा की जाती है। इसलिए हर देवालय मन, विचार व व्यवहार को पवित्र व साधने वाली ऊर्जा देने वाले शक्तिस्थल भी माने जाते हैं। हर देवी-देवता विशेष शक्ति साधना के लिए पूजनीय हैं। देव उपासना से कार्य विशेष को साधने के लिए बुद्धि और विवेक मिलने की आस्था ही भक्त को देवालय तक खींच लाती है। चूंकि देव शक्ति से जुड़ी यही श्रद्धा और आस्था सब कुछ संभव करने वाली मानी गई है। इसलिए यह भी जरूरी है कि देवालय में पहुंच देव...
    July 17, 02:33[IST]
  • शुक्रवार विशेषः सुबह ये 2 देवी मंत्र उपाय पूरी करेंगे मनोकामना
    उज्जैन। शास्त्रों के मुताबिक संसार में प्राणी, वनस्पति, ग्रह-नक्षत्र सभी में दिखाई देने वाली या अनुभव होने वाली हर तरह की शक्तियां आदिशक्ति का ही स्वरूप है। यह आदिशक्ति ही ब्रह्मरूप है।वेदों में जगतजननी जगदंबा द्वारा स्वयं कहा गया है कि वह ही पूरे ब्रह्मांड की अधिष्ठात्री है। इसलिए सभी कर्मफल और सुख-समृद्धि मेरे द्वारा ही प्रदान किए जाते हैं। अगर आपके भी जीवन परेशानियां चल रहीं हों या फिर मनचाही सफलता नहीं मिल रही, तो यहां बताए जा रहे देवी उपासना के 2 खास मंत्र उपायवर्तमान में जारी शिव...
    July 17, 03:01[IST]
  • गुरु पूर्णिमा- गुरु पूजा के ये छोटे-छोटे उपाय भी कर देंगे खुशहाल
    उज्जैन।हिन्दू धर्म परंपराओं में गुरु पूर्णिमा (12 जुलाई) गुरु भक्ति, वंदना और कृपा से जीवन को शांत, सुखी और सफल बनाने की चाहत से बहुत शुभ घड़ी है। यानी यह दिन गुरु सेवा को ही समर्पित है। असल में, जीवन के नजरिए से यह जरूरी नहीं कि गुरु मात्र धर्म, अध्यात्म क्षेत्र या पहनावे से जुड़ा हो या कोई एक ही व्यक्तित्व हो, बल्कि हर वह इंसान, जो दु:ख के दलदल से दूर रख खुशहाली की राह बताने का ज्ञान, कौशल, सीख और भरोसा दे, उन्हें गुरु माना गया है। अगर आप भी सुख-सफलता की चाहत रखते हैं या फिर परेशानियों से घिरे हैं, तो इस...
    July 11, 04:28[IST]
  • गुरु पूर्णिमा कल: गुरु को भगवान से भी श्रेष्ठ कहते हैं, जानिए क्यों?
    उज्जैन।आषाढ़ मास की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा कहते हैं। हिंदू धर्म में इस दिन गुरु की पूजा करने का विधान है। इस बार ये पर्व 12 जुलाई, शनिवार को है। ये पर्व हमें गुरु के महत्व को बताता है- गुरु गोविंद दोऊ खड़े, काके लागूं पाय। बलिहारी गुरु आपकी, गोविंद दियो बताए।। कबीर द्वारा रचित उक्त पंक्तियों में गुरु की महिमा का वर्णन किया गया है तथा गुरु को ईश्वर से भी श्रेष्ठ बताया गया है। हिंदू धर्म में गुरु का स्थान प्रारंभ से श्रेष्ठ है। धार्मिक ग्रंथों में गुरु की महिमा का वर्णन कई बार पढऩे में आता है।...
    July 11, 06:00[IST]
  • 12 को पूर्णिमाः जानिए, धनकामना पूरी करने का विशेष पूजा उपाय
    उज्जैन।हिन्दू धर्म ग्रंथों के मुताबिक धन या पैसा ऐसा जरिया है, जो सांसारिक जीवन मेंव्यक्तिगत, पारिवारिक और सामाजिक तौर से शक्तिशाली बनाकर पद और प्रतिष्ठा का हकदार भी बना देता है। शास्त्रों का यह सूत्र इस बात को बल भी देता है- धनेन बलवांल्लोके धनाद्भवति पण्डित: जिसका अर्थ है कि धन से इंसान समर्थ बनता है। इससे केवल धनवान व्यक्ति भी गुणी, विद्वान और योग्य लोगों की श्रेणी में शामिल हो जाता है। वहीं, धन के अभाव में विद्वान भी नकारा जा सकता है। पुरुषार्थ के रूप में धन की इसी अहमियत के चलते...
    July 10, 05:32[IST]
विज्ञापन
 

बड़ी खबरें

 
 
 
 
 
 
 
 
 

रोचक खबरें

 
 
 
 
 
 
विज्ञापन
 

बॉलीवुड

 
 
 
 
 
 
 

स्पोर्ट्स

 
 
 
 
 
 

बिज़नेस

 
 
 
 
 
 

जोक्स

 
 
 
 
 
 

पसंदीदा खबरें

 
 
 
 
 
 

फोटो फीचर