Home» Jeevan Mantra »Dharm »Upasana » कुण्डली में है मंगल दोष! इस खास मंगल मंत्र से दूर होंगी परेशानियां

कुण्डली में है मंगल दोष! इस खास मंगल मंत्र से दूर होंगी परेशानियां

धर्म डेस्क. उज्जैन | Jun 12, 2012, 15:58PM IST
कुण्डली में है मंगल दोष! इस खास मंगल मंत्र से दूर होंगी परेशानियां

पौराणिक मान्यता है कि शिव का ही मांगलिक स्वरूप मंगल ग्रह के रूप में प्रकट हुआ। शिव का तेज (मतान्तर से वीर्य) भूमि पर गिरा और भूमि के गर्भ से मंगल ग्रह का जन्म हुआ। भूमि द्वारा ही मंगल देव का पालन-पोषण हुआ। इसलिए मंगल, भूमिपुत्र या भौम नाम से पूजनीय हुए।  भौमवार यानी मंगलवार मंगल देव की पूजा का ही विशेष दिन है।

मंगल देव, तन से बलवान, मन से साहसी व भूमि-संपत्ति व धन से समृद्ध बनाने वाले माने गए हैं। मंगल देव भूमि, भार्या या पत्नी के रक्षक भी माने जाते हैं। वहीं ज्योतिष शास्त्रों के नजरिए से कुण्डली में मंगल दोष होने पर दाम्पत्य, विवाह, संपत्ति और खून संबंधी समस्याएं पैदा होती है।

शास्त्रों में मंगलवार या हर रोज़ विशेष मंगल मंत्र स्त्रोत बोलना इन परेशानियों से निजात दिलाने वाला माना गया है। मंगल पूजा, विवाह, संपत्ति, सेहत, धन, दाम्पत्य, संतान और सफलता जैसी तमाम कामना सिद्ध कर जन्मकुण्डली में बने मंगल दोष की भी शांति कर देती है। जानिए यह मंगल स्त्रोत और मंगल पूजा विधि -

- मंगलवार की सुबह स्नान के बाद लाल वस्त्र पहन नवग्रह मंदिर में मंगलदेव की प्रतिमा की लाल पूजा सामग्रियों से पूजा करें। लाल चंदन, अक्षत, फूल, लाल वस्त्र व नैवेद्य आदि 'ऊँ अंकारकाय नम:' मंत्र बोल अर्पित करें। धूप, दीप लगाएं व लाल आसन पर बैठ नीचे लिखा छोटा-सा मंगल मंत्र स्त्रोत संकट, बंधनों से मुक्ति की प्रार्थना के लिए बोलें -

भौमो दक्षिणदिक्त्रिकोणयमदिग्विघ्रेश्वरो रक्तभ:

स्वामी वृश्चिक-मेषयो: सुरगुरुश्चार्क: शशी सौहृद:।

जोरिषट् त्रिफलप्रदश्च वसुधा स्कन्दौ क्रमाद् देवते

भारद्वाजकुलोद्भव: क्षितिसुत: कुर्यात् सदा मंङ्गलम्।।

- मंगल मंत्र स्मरण के बाद मंगल देव की धूप, दीप आरती करें। यथाशक्ति गुड़, केसर व मसूर दाल का दान किसी विद्वान ब्राह्मण को करें।





आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 10

 
विज्ञापन
 
Ethical voting

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

स्पोर्ट्स

बिज़नेस

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment