Home» Jeevan Mantra »Dharm »Gyan » Dharm_alert!These Steps For Progress And Profit Will Be Harmfull

PICS: खबरदार! तरक्की या फायदे के लिए अपनाएं ये 5 तरीके करते हैं बर्बाद

धर्म डेस्क. उज्जैन | Dec 02, 2012, 17:31PM IST
1 of 2

बुरे वक्त से बाहर निकल तरक्की की चाहत और कोशिश हर इंसान के लिए मुनासिब है, मगर आज के दौर में भौतिक सुखों की चकाचौंध से इंसान के मन पर हावी स्वार्थ बहुत कम वक्त में ज्यादा पाने की लालसा भी पैदा करता है, जिसके चलते आगे बढऩे के लिए कुछ गलत सोच व तरीकों को अपनाना भी चतुराई या बुद्धिमत्ता का पैमाना मान लिया जाता है। 

वहीं, धर्म शास्त्रों के नजरिए से तरक्की के लिए पलभर के लिए भी गलत उपाय अपनाने वाला व्यक्ति आखिर में औंधे मुंह गिरता है यानी पतन की गर्त में चला जाता है। इससे उबरने के लिए उम्र और समय भी कम पड़ सकता है। ऐसे बुरे वक्त से बचने के लिए खासतौर शास्त्रों में ही ऐसे 5 काम या तरीके उजागर हैं, जिनको तरक्की, स्वार्थ या क्षणिक सुख और लाभ के लिए कभी न अपनाएं तो बेहतर है- 

मित्र से धोखा - अपने फायदे के लिए दोस्त से छल-कपट करना मित्रता को शत्रुता में बदलने का कारण बनता है। साथ ही बदनामी और अपयश का कारण भी। 
पाप से धर्म - धर्म के नाम पर कर्म, व्यवहार, बोल, वेशभूषा द्वारा ऊपरी दिखावा कर धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाना या गुमराह कर लाभ लेना पाप माना गया है, जो आखिरकार जीवन के लिए संकट का कारण भी बन सकता है। 
दूसरों को दु:खी कर धन कमाना - अपने सुखों के लिए दूसरों के  साथ छल, कपट, बेईमानी या अन्य किसी गलत तरीकों को अपनाकर धन बंटोरना, धार्मिक नजरिए से न केवल पाप है, बल्कि व्यावहारिक रूप से भी इसके घातक नतीजे विरोध और शत्रुता, कलह भरे जीवन के रूप में सामने आते हैं।
बिना मेहनत के विद्या अर्जन - कुशलता और कामयाबी के लिए संपूर्ण विद्या, व ज्ञान अहम होता है, जो समर्पण, परिश्रम के बिना असंभव है। किंतु तरक्की के लिए धन या किसी अन्य अनुचित तरीकों से शिक्षा या कौशलता का प्रमाण पत्र बिना मेहनत के पाना लंबे समय के लिए मान-सम्मान और तरक्की के लिए घातक ही साबित होता है। 
कठोर व्यवहार से स्त्री को वश में करना - स्त्री से रिश्ता मां, बहन, पत्नी, बेटी किसी भी रूप में हो, प्रेम और स्नेह के साथ निभाने पर ही सुख देता है। किंतु स्त्री को कमतर मानकर, बुरी मानसिकता या भोग का साधन समझ बुरे व्यवहार से अधिकार या वश में करने की कोशिश अंतत: मान-प्रतिष्ठा को धूमिल ही नहीं करती, बल्कि जीवन को दु:खों से भर सकती है।  

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
6 + 5

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment
(1)
Latest | Popular