Home» Jeevan Mantra »Aisha-Kyun » Jyts Parampara Know The Special Incident About Ravan And Shanidev

रावण और शनिदेव से जुड़ा ये प्रसंग बहुत कम लोग जानते हैं

धर्म डेस्क. उज्जैन | Jan 08, 2013, 10:44AM IST
2 of 8
शनि और रावण से जुड़ा प्रसंग इस प्रकार है... उस समय रावण और मंदोदरी के पुत्र मेघनाद का जन्म होने वाला था।  रावण चाहता था कि उसका पुत्र अजेय हो जिसे कोई भी देवी-देवता हरा न सके, रावण चाहता था कि उसका पुत्र दीर्घायु हो, उसकी मृत्यु हजारों वर्षों बाद ही हो। रावण चाहता था कि उसका पुत्र परम तेजस्वी, पराक्रमी, कुशल यौद्धा, ज्ञानी हो। रावण एक प्रकाण्ड पंडित और ज्योतिष का जानकार था इसीकारण मेघनाद के जन्म के समय उसने ज्योतिष के अनुसार सभी ग्रहों और नक्षत्रों को ऐसी स्थिति में बने रहने का आदेश दिया कि उसके पुत्र में वह सभी गुण आ जाए जो वह चाहता है।
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
3 + 10

 
विज्ञापन

बड़ी खबरें

रोचक खबरें

विज्ञापन

बॉलीवुड

स्पोर्ट्स

जोक्स

पसंदीदा खबरें

फोटो फीचर

 
Email Print Comment